होम लोन कितने प्रकार के होते है? | Types of Home loans

|| होम लोन कितने प्रकार के होते हैं? | Types of Home loan | home loan kitne prakar ke hote hai | होम लोन देने के उद्देश्य | Home loan objectives ||

एक व्यक्ति के जीवन में सामान्यता कुछ सपने होते हैं की उनका एक घर हो एक छोटा परिवार हो और उनके पास एक गाड़ी हो इन सपनों को पूरा करने के लिए वह अपनी जिंदगी भर मेहनत करके पैसा इकट्ठा करते रहते हैं। लेकिन किसी कारणवश अगर यह रुपए इकट्ठा ना हो पाए तो वह अपने सपने से वंचित रह जाते हैं। आपके इन्हीं सपनों को पूरा करने के लिए और आपको हमेशा खुश रखने के लिए होम लोन बैंक द्वारा प्रदान किया जाता है।

होम लोन को घर को खरीदने तथा घर को बनाने के लिए प्रदान किया जाता है। इसमें एक विशिष्ट ब्याज दर (bank rate provided on loans by banks) प्रदान की जाती है। यह सबसे सरल एवं सुविधाजनक लोन है। होम लोन को आप बहुत सरल और छोटी आसान किस्तों में बैंक को चुका (pay loans in small installments) सकते हैं। आपको बता दे कि होम लोन कई प्रकार के होते है? ( Types of Home Loan) जिन्हें अलग – अलग कार्य के लिए दिया जाता है। home loan kitne prakar ke hote hai जिसके बारे में नीचे विस्तृत जानकारी दी गयी है –

नीचे बताएं गए होम लोन के बारे में जानकर आप अपनी सुविधा अनुसार होम लोन लेकर आसानी से अपना घर खरीद सकते हैं तथा उसमें एक खुशहाल जिंदगी व्यतीत कर सकते हैं।

Contents show

होमलोन क्या होता है? | What is home loan?

किसी संस्थान, कंपनी, बैंक से घर बनाने के लिए ली गयी राशि (पैसा) को होमलोन कहते हैं। जैसे कि बैंक ने होमलोन की सुविधा को शुरु किया हैं। अगर आप घर बनाना चाहता है लेकिन पैसे की कमी है तो आप बैंक से होमलोन ले सकते हैं।

होम लोन कितने प्रकार के होते हैं Types of Home loans

होम लोन देने के उद्देश्य | Home loan objectives

होम लोन देने का उद्देश्य बैंक के द्वारा एक सरल तथा सुगम उपाय ग्राहक को प्रदान कराना है। जिससे वह अपने घर को आसानी से खरीद सके वह आसान किस्तों में बैंक को यह लोन वापस जमा कर सकें। होम लोन मिलने से ग्राहक की पैसे की कमी की तथा किसी और से मांगने की जरूरत खत्म हो जाती है तथा वे आसानी से बिना किसी के आगे हाथ फैलाए अपने घर को खरीद सकता है. होम लोन के विभिन्न प्रकार (types of home loans) हैं। जिन्हें व्यक्तियों के सुविधा के अनुसार तैयार किया गया है जिनके के निम्न प्रकार हैं –

होम लोन के प्रकार | Types of Home loans

  • होम परचेस लोन (Home purchase loan)
  • होम इम्प्रूवमेंट लोन (Home improvement loan)
  • होम कंस्ट्रक्शन लोन (Home construction loan)
  • लैंड परचेस लोन (Home purchase loan)
  • होम एक्सटेंशन लोन (Home extension loan)
  • जॉइंट होम लोन (joint home loan)
  • होम लोन बैलेंस ट्रांसफर (home loan balance transfer)
  • टॉप अप होम लोन (top up home loan)
  • ब्रिज होम लोन (Bridge home. Loan)
  • कम्पोजिट होम लोन (Composite home. Loan)
  • एनआरआई होम लोन (NRI home loan)
  • फिक्स्ड रेट होम लोन (Fixed home. Loan)
  • फ्लोटिंग रेट होम लोन (Floating home loan)

होम लोन के प्रकारों का विस्तृत विवरण | information about every home loan

1. होम परचेस लोन | Home purchase loan

होम परचेज लोन मैं ग्राहक पहले से बने हुए किसी घर या फ्लैट को खरीदने के लिए लोन लेता है यह घर या फ्लैट में किसी बिल्डर मकान के मालिक या हाउसिंग कंस्ट्रक्शन की कंपनियों से खरीदता है।

2. होम इम्प्रूवमेंट लोन | Home improvement loan

होम इंप्रूवमेंट लोन वह लोन है जिसमें एक पुराने घर के रिनोवेशन या दोबारा मरम्मत करने के लिए उसे लिया जाता है। जैसे दोबारा  घर की छत ठीक कराना घर का  इंडोर ठीक करवाना सेनेटरी वर्क कराना आदि होम इंप्रूवमेंट लोन में एक पुराने घर को मरम्मत करके नया किया जाता है।

3. होम कंस्ट्रक्शन लोन | Home construction loan

होम कंस्ट्रक्शन लोन में खाली पड़ी जमीन मैं घर बनवाने के लिए लिया जाता है इस प्रकार के लोन में घर पहले से बना हुआ नहीं होता (construction of new house) उसका निर्माण पूर्णता नए तरीके से होता है। इस प्रकार के लोन  में मांगी गई  राशि अनुमानित होती है जितनी घर के निर्माण में लागत आती है उसका अनुमान लगाकर लोन के लिए अप्लाई किया जाता है।

4. लैंड परचेस लोन | Home purchase loan

लैंड परचेज लोन वह  लोन होता है जिसमें जमीन के किसी हिस्से को(purchasing of a. Plot)खरीदने के लिए लोन प्रदान किया जाता है इस लोन को आप निवेश के तौर पर भी खरीद सकते हैं। तथा अगर आपको बाद में घर बनवाना है उसके लिए भी आप लोग और फिर भी उनको ले सकते हैं जमीन की कीमतों में लगातार वृद्धि होने के कारण ग्राहक जमीन को खरीद कर बाद में बेचने पर उससे मनासा कमाते हैं।

5. होम एक्सटेंशन लोन | Home extension loan

होम एक्सटेंशन लोन  वह लोन है है जिसमें एक पुराने बने हुए घर को और बड़ा करके बनवाने के लिए यह लोन लिया जाता है। जैसे कमरा किचन बाथरूम आदि को और एक्सटेंड कराने के लिए लोन लिया जाता है घर का रिनोवेशन लोन के अंतर्गत आता है।

6.जॉइंट होम लोन | joint home loan

ज्वाइंट होम लोन वह लोन है जिसके अंतर्गत परिवार के दो या दो से अधिक(joint loan of two or more than two people) लोग यह लोन लेते हैं। ज्वाइंट होम लोन जो 2 लोग यह लोन लेते हैं वह समान रूप से द् वित्तीय जिम्मेदारी के लिए उत्तरदाई होते हैं ज्वाइंट होम लोन मैं ही लिया जा सकता है।

7. होम लोन बैलेंस ट्रांसफर | joint home loan

होम लोन बैंक ट्रांसफर के अंतर्गत लोन लिया जाता है जिसमें अगर आपको किसी दूसरे बैंक से कम ब्याज दर पर लोन मिल रहा है तो आप आधे से अधिक लोगों को दूसरी बैंक में ट्रांसफर करा कर उस से लोन ले सकते हैं होम लोन बैलेंस ट्रांसफर के अंतर्गत आपको कुछ धनराशि चुकाने भी पड़ सकती है। इसलिए पूरी जानकारी लेने के बाद ही होम लोन बैंक ट्रांसफर कराना सही रहेगा नई बैंक में आप सस्ती ईएमआई के डरो से होम लोन को झुका सकते हैं।

8. टॉप अप होम लोन | top up home loan

टॉप अप लोन वह लोन है जिसमें यदि आपका लोन किसी बैंक में पहले से चल रहा है तथा आपको घर बनवाने अथवा रिनोवेशन कराने के लिए और लोन की आवश्यकता है तो आप पुराने लोन के ऊपर टॉप ऑफ होम लोन का लाभ उठा सकते हैं बैंक इसे आसानी से प्रदान कर देता है।

9. ब्रिज होम लोन | Bridge home loan

ब्रिज होम लोन बैलून होता है जिसमें आपको पुराने घर को बेचने तथा नए (Time between purchasing new home upto selling of old home) घर को खरीदने के बीच में लोन प्रदान किया जाता है इसके लिए आपको निश्चित ब्याज दर भी चुकानी पड़ती है। उदाहरण के लिए यदि आप पुराने घर को बेचने के पहले मैं घर को खरीदना चाहते हैं तो बैंक इस समय अंतराल के लिए लोन प्रदान करता है इसके पश्चात आप पुराने घर को भेजकर बैंक का लोन चुका सकते हैं ब्रिज होम लोन के अंतर्गत आपको सबसे ज्यादा ब्याज दर चुकानी पड़ती है।

10. कम्पोजिट होम लोन | composite home loan

कंपोजिट होम लोन वह लोन होता है जो अपने नाम के अनुरूप कम अपोजिट ली की अथवा एक घर को पूरा जमीन खरीदने से लेकर बनवाने तक पूरा लोन प्रदान करता है कंपोजिट होम लोन में जमीन को खरीदना तथा इसके बाद घर को बनाने के लिए किसी दूसरे पर निर्भर नहीं होता है कथा एक ही ओर से आप अपनी सारी जरूरतों को पूरा कर सकते हैं।

11. एनआरआई होम लोन | NRI home loan

एन आर आई होम लोन अपने नाम के अनुरूप वह लोन है जिसमें भारत से बाहर रहने वाले भारतीय जो भारत में घर लेना चाहते हैं तथा वह होम लोन लेने का विचार कर रहे हैं तो वह एन आर आई होम लोन ले सकते हैं।सरकार n.r.i. भारतीयों को लोन प्रदान करने में बहुत लाभ प्रदान करती है आपकी जानकारी के लिए बता दें कि n.r.i. होम लोन में ब्याज दरें बाकी होम (Highest bank rate in NRI Home loan) लोन से अधिक होती हैं एन आर आई होम लोन विदेशी भारतीयों को भारत में घर लेने वहां रहने के लिए प्रोत्साहित करता है।

इस लोन के लिए आवेदन कौन कर सकता है?

  • प्रवासी भारतीय, (Non Resident Indian)
  • भारतीय मूल के व्यक्ति, (Person of Indian origin)
  • भारत के प्रवासी नागरिक, (Overseas Citizen of India)

N.r.i. भारतीयों के लिए आवेदन करने हेतु डॉक्यूमेंट

  • होम लोन आवेदन हेतु आवेदन पत्र
  • पहचान प्रमाण पत्र जैसे ड्राइविंग लाइसेंस ग्रीन कार्ड (Green card) पासपोर्ट आदि।
  • पता प्रमाण पत्र जैसे आधार कार्ड पहचान पत्र ड्राइविंग लाइसेंस वोटर आईडी कार्ड आदि।
  • जन्मतिथि(Date od birth certificate)के दस्तावेज हस्ताक्षर किए हुए प्रमाण पत्र की आवश्यकता होगी
  • इसके अलावा कई दस्तावेजों की आवश्यकता भी होती है जो आपको होम लोन की वेबसाइट पर जाकर चेक करनी होगी।

12. फिक्स्ड रेट होम लोन | Fixed home. Loan

फिक्स्ड रेट होम लोन होम लोन है जिसके अनुसार आपको प्रदान किए गए लोन की ब्याज दर हमेशा समान रहती है (Fixed bank rate)इसमें कभी भी उतार-चढ़ाव नहीं किया जाता तथा इस समान ब्याज दर के अनुसार ही आपको लियोन की अदायगी करनी होती है।

फिक्स्ड रेट होम लोन के फायदे तथा नुकसान दोनों है सिगरेट होम लोन का फायदा यह है कि यदि बाजार में ब्याज की डरे अधिक हैं तब आपको चेस्ट ब्याज में फायदा होगा तथा नुकसान जब है जब बाजार में ब्याज की दरें कम है इस सूरत में आपको फिक्स्ड रेट होम लोन में नुकसान तथा फायदा दोनों उठाना पड़ सकता है।

13. फ्लोटिंग रेट होम लोन | Floating rate home loan

फ्लोटिंग रेट होम लोन होम लोन है जिसके अंतर्गत आपको ब्याज दर हमेशा एक ही चुकानी(bank rate chnged according to market) नहीं पड़ती यदि बाजार में ब्याज दर में प्रति होती है तो आपको ज्यादा ब्याज चुकाना पड़ता है तथा यदि पाजा बाजार में ब्याज दर में कमी आती है तब आपको कम ब्याज दर का लोन चुकाना पड़ता है।

फ्लोटिंग रेट होम लोन के फायदे तथा नुकसान यह है कि अगर बाजार में ब्याज दर में अधिक वृद्धि हुई कब आपको बहुत अधिक ब्याज दर से लोन चुकता करना पड़ेगा तथा यदि बाजार में ब्याज की दरें हम हुई तब आपको फायदा होगा तथा आपको कम ब्याज दरों से लोन चुकता करना होगा।

होम लोन के विषय में कुछ विशेष जानकारी

होम लोन लेने से पहले आपको अपने क्रेडिट स्कोर की जांच करनी होगी क्योंकि कम क्रेडिट स्कोर पर आपको अधिक लोन चुकाना पड़ सकता है कुछ लोग ऐसे हैं जिनमें अधिक राशि प्रदान नहीं की जाती तब आप ज्वाइंट होम लोन के लिए अप्लाई कर सकते हैं।

होम लोन के अंतर्गत आपको अन्य बैंकों की अपेक्षा कम दर पर लोन प्रदान किया जा सकता है इसलिए आप सभी बैंकों में जाकर जानकारी ले लें और जहां से आपको कम दर पर लोन मिले वहां से बैंक लोन ले

ऊपर दिए हुए होम लोन के विषय में विस्तृत जानकारी को ठीक से समझने तथा बैंक मैनेजर से इस विषय में बात करें आपको जिस होम लोन में रूचि है उस होम लोन के लिए आवेदन करें।

होम लोन से संबंधित प्रश्न एवं उनके उत्तर

10 लाख के होम लोन पर कितना ब्याज लगता है?

10 लाख के होम लोन पर 6 पॉइंट 6 5% से 13% तक के होम लोन का ब्याज दर लगती है इस ब्याज दर को आप आसान किस्तों में भी चुका सकते हैं।

सबसे अच्छा होम लोन कौन सा है?

सबसे पहले आप सुनिश्चित करें कि आपको लोन किन जरूरतों के लिए देना है तथा उसके बाद सारे home loan के विषय में विस्तृत जानकारी इकट्ठा करें और अपनी समझ के हिसाब से होम लोन के लिए अप्लाई करें।

होम लोन कितने साल के लिए मिलता है?

होम लोन अधिकतम 30 वर्ष के लिए प्रदान किया जाता है।

कौन सा बैंक सबसे कम ब्याज दरों पर होम लोन प्रदान करता है?

सामान्यता सभी बैंक अपने सहूलियत तथा फायदे के हिसाब से होम लोन प्रदान करते हैं परंतु फिर भी कुछ बैंक है जो कुछ कम दरों पर होम लोन प्रदान करते हैं वह निम्न है। कर्नाटक बैंक, यूनियन बैंक, बैंक ऑफ महाराष्ट्र, एचडीएफसी बैंक आदि बैंकों में आप ब्याज की दरों को पता कर सकते हैं।

Leave a Comment