मधुमक्खी पालन एवं शहद बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें? | लागत, मुनाफा नियम

आज के समय में लोग तरह तरह के खाद्य पदार्थों का सेवन करना पसंद करते है और कई लोग खाद्य पदार्थों का व्यापार (Foodstuff Business) करके हजारों लाखों रुपए कमा रहे है। जिसमें से मधुमक्खी पालन एवं शहद बनाने का व्यापार (Beekeeping and honey making business) भी है, जो शरीर के लिए फायदेमंद होने के साथ भी कई अन्य कार्यों के लिए भी उपयोग किया जाता है.

कुछ स्थिति में शहद (Honey) का इस्तेमाल दवाई के रूप में भी किया जाता है। भारत में बहुत पहले के समय से ही मधुमक्खी पालन का व्यापार (Honey Bee Farming) किया जा रहा है। पहले के समय में यह व्यापार ऊंची जगह में रहने वाले लोगो के द्वारा किया जाता था, लेकिन आज मधुमक्खी पालन (Beekeeping) सभी क्षेत्रों में आसानी से किया जा सकता है क्योंकि यह एक ऐसा स्वरोजगार हैं।

जिससे कोई भी व्यक्ति कम निवेश (Investment) पर आसानी से शुरू करके अधिक मुनाफा कमा सकता है क्योंकि आज के समय में सहित की मांग बहुत अधिक है। ऐसे में अगर आप मधुमक्खी पालन एवं शहद बनाने का व्यापार शुरू (Beekeeping and honey making business Start) करते हैं तो यह आपके लिए काफी फायदेमंद सिद्ध होगा।

जो भी लोग मधुमक्खी पालन एवं शहद बनाने के बिजनेस करने से संबंधित जरूरी जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं, उन्हें हम इस लेख (Article) के माध्यम से बताएंगे कि आपको मधुमक्खी पालन शुरू करने के लिए किन चीजों की आवश्यकता होगी तो आपका ज्यादा समय बर्बाद ना करते हुए चलिए शुरू करते हैं-

Contents

मक्खी पालन एवं शहद बनाने का बिजनेस क्या है?

भारत में प्राचीन काल (Ancient times) से ही शहद को काफी पसंद किया जाता है और आज भी शहद की मांग (Demand) बहुत अधिक है, इसे दुनिया का पहला मीठा पदार्थ माना जाता है लेकिन पहले उसके समय में लोगों को अधिक मात्रा में और अच्छी गुणवत्ता (Quality) का शहद प्राप्त नहीं होता था क्योंकि शहद प्राप्त करने के लिए उन्हें पेड़ों पर लगे मधुमक्खी के छत्ते पर ही निर्भर रहना पड़ता था।

मधुमक्खी पालन एवं शहद बनाने का व्यापार कैसे शुरू करें  लागत, मुनाफा नियम

आज भी बहुत सारे ऐसे लोग हैं जो पुरानी तकनीक (Old technology) से शहद प्राप्त करते हैं लेकिन इसके लिए उन्हें मधुमक्खियों को सत्ता छोड़ने अथवा धूमे के माध्यम से मधुमक्खियों को उड़ना पड़ता है, जिसके बाद ही उन्हें छत्ते से शहद (Honey) प्राप्त होता है हालांकि ऐसा करने पर शहद की प्राप्ति तो हो जाती है लेकिन साफ एवं शुद्ध शहद (Pure honey) नहीं मिल पाता है। जिसकी वजह से लोगों को बाजार में शहद का उचित मूल्य नहीं मिल पाता है.

इसलिए आपको पुरानी तकनीक को छोड़कर आधुनिक तकनीक (Modern technology) से मधुमक्खी पालन एवं शहद बनाना शुरू करना चाहिए। जिसमें आपको पेड़ पर छत्ते से शहद प्राप्त करने के लिए मेहनत नहीं करनी होगी बल्कि डिब्बों में मधुमक्खी पालन (Beekeeping) करना होगा. ऐसा करके आप एकदम शुद्ध शहद प्राप्त करके उसे मार्केट में अधिक दामों (prices) पर बेचकर बहुत सारा मुनाफा कमा सकते हैं।

वर्तमान समय में अधिकांश लोग मधुमक्खी पालन एवं शहद बनाने का बिजनेस (Beekeeping and honey making business) करके लाखों रुपए कमा रहे हैं। अगर आप भी अपने भविष्य के लिए किसी प्रकार का बिजनेस शुरू करने का सोच रहे हैं तो मधुमक्खी पालन आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है।

मधुमक्खी के एक छत्ते में कितनी प्रकार की मक्खियाँ होती हैं ?

मधुमक्खी पालन एवं शहद बनाने के बिजनेस को शुरू करने से पहले आपको यह जानकारी (Information) होना बेहद आवश्यक है कि मधुमक्खी के छत्ते में कितने प्रकार की मधुमक्खियां (Bees) होती हैं तो हम आपको बता दें कि एक मधुमक्खी के छत्ते में मुख्य रूप से तीन प्रकार की मधुमक्खियां पाई जाती है, जिनमें से एक रानी मधुमक्खी, नर मधुमक्खी तथा ड्रोन मधुमक्खी (Queen bee, male bee and drone bee) होती हैं। जिनकी संख्या लगभग दो हजार होती है।

साथ ही मधुमक्खी के छत्ते में 4000 से लेकर 5000 तक श्रमिक मधुमक्खियां भी होती हैं, जिनके द्वारा शहद बनाने का अधिकतर कार्य किया जाता है। इन सभी मधुमक्खी में से रानी मधुमक्खी (Queen bee) का आकार सबसे बड़ा होता है और इसका रंग गहरा होता है। श्रमिक श्रमिक मधुमक्खियों का मुख्य कार्य फूलों से रस प्राप्त करके शहद का निर्माण (Honey Manufacture) करना होता है आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मधुमक्खियां पुष्परागम में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करती हैं।

निम्नलिखित प्रकार के मधुमक्खियों का इस्तेमाल किया जाता है मधुमक्खी पालन में

वर्तमान समय में भारत में मधुमक्खी पालन एवं सेहत बनाने के बिजनेस के लिए पांच प्रकार की मधुमक्खियों (Bees) का इस्तेमाल किया जाता है आइए मधुमक्खी पालन में मुख्य भूमिका निभाने वाली 5 प्रकार की प्रजातियां की मधुमक्खियों के बारे में जानते हैं जो निम्नलिखित (following) प्रकार से नीचे दी गई हैं-

एपिस सेरेना इण्डिका (Apis cerana indica)

इस प्रकार की मधुमक्खी को सतकोचवा मधुमक्खी के नाम से जाना जाता है जो 1 साल में 10 किलो से लेकर 15 किलो तक शहद का निर्माण करती हैं इन मधुमक्खियों को व्यवसायिक (Business) रूप से इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि यह एक साथ किसी भी पेड़ अथवा दीवाल 7 छतो का निर्माण (Production) करती हैं जिसकी वजह से इन्हें आसानी से वीडियो या डिब्बों में पाला जा सकता है।

एपिस फ्लोरिया (Apis florea)

ड्वार्फ बी प्रजाति की यह मधुमक्खियां (Honey Bees) आकार में बेहद छोटी होती हैं जो छोटे छोटे शब्दों का निर्माण करती हैं। यह मधुमक्खियां एक बार में 250 ग्राम से लेकर 1 किलो तक शहद (Honey) का निर्माण करती हैं और यही कारण है कि वेबसाइट रूप से इन मधुमक्खियों का इस्तेमाल (use) सर्वाधिक किया जाता है।

एपिस डोरसॅटा (Apis dorsata)

यह व्यवसायिक रूप से इस्तेमाल की जाने वाली मधुमक्खियों की सबसे प्रसिद्ध (Famous) प्रजाति है जो सबसे अधिक शहद निर्माण करने में सक्षम होने के साथ बेहद खतरनाक (Dangerous) होती हैं और यह अधिकतर जंगलों में बड़े बड़े पेड़ों पर अपना छत्ता बनाकर शहद का निर्माण करती है इसी कारण इन मधुमक्खियों का पालन (Keeping bees) नहीं किया जा सकता यह मधुमक्खी एक बार में तकरीबन 30 किलोमीटर से लेकर 500 किलोमीटर तक शहद बनाती हैं।

टेट्रागोनुला इरिडीपेनिस (Tetragonula iridipennis)

इन्हे डामर या स्टींगलेस बी (Asphalt or stingless B) के नाम से भी जाना जाता है जिनका पालन आसानी से किया जाता है और इस प्रकार की मधुमक्खियां 1 छत्ते में 100 ग्राम से भी अधिक शहद (Honey) का निर्माण करती हैं जिसकी वजह से इन्हें सबसे अधिक शहद निर्माण करने वाली मधुमक्खियों के रूप में भी जाना जाता है।

एपिस मेलिफेरा (Apis mellifera)

आधुनिक तरीके से शहद निर्माण करने हेतु मधुमक्खियों को पेटी में पाला जाता है जिसमें एपीस मेलीफेरा (Apis mellifera) यानी यूरोपियन अथवा इतावली मधुमक्खी का पालन सर्वाधिक किया जाता है क्योंकि यह मधुमक्खी (Bees) अपने चाहते हैं एक बार में लगभग 25 किलो से लेकर 40 किलो शहद का निर्माण करती है।

मधुमक्खी पालन व्यवसाय कैसे शुरू करें? ( Honey Bee Farming Business?)

मधुमक्खी पालन का व्यवसाय शुरू (Beekeeping business Strat) करना बहुत ही आसान है आप कुछ आसान चीजें की व्यवस्था करके आसानी से मधुमक्खी पालन के शहद का निर्माण कर सकते हैं और हर महीने अच्छा मुनाफा (Profits) कमा सकते हैं जिनके बारे में हमने नीचे के रूप में जानकारी उपलब्ध कराई है।

मधुमक्खी पालन के लिए सही जगह का चुनाव करें

मधुमक्खी पालन बिजनेस शुरू करने हेतु आपको पहले खुली जगह की व्यवस्था (Arrangement) करनी होगी जो मधुमक्खियों के पालन करने हेतु अच्छी हो, जहां पर आप मधुमक्खियों को सुरक्षित (Safe) रखकर उनका पालन कर सकें।

मधुमक्खी पालन के लिए जगह चुने

मधुमक्खी पालन करने के लिए सबसे जरूरी सही जगह का चुनाव (Choose) करना है आपको मधुमक्खी पालन करने के लिए ऐसी जगह का चुनाव करना है जो खुली हो और जहां मधुमक्खियां सुरक्षित (Safe) रहें।

अगर आप ऐसे वातावरण में मधुमक्खी पालन करते हैं जहां पर वातावरण (Atmosphere) अच्छा हो और आसपास पेड़ पौधे हो तो मधुमक्खियां शहद का प्रोडक्शन (Honey Production) अधिक करेंगी और आपको अच्छी क्वालिटी में शहद प्राप्त होगा।

मधुमक्खी पालन के लिए ढांचे तैयार करवाएं

मधुमक्खी के लिए उचित वातावरण की जगह की व्यवस्था करने के उपरांत आपको मधुमक्खियों (Bee’s) के शहद को एकत्रित करने के लिए 150 से लेकर 200 लकड़ी के ढांचे का निर्माण कराना होगा।

जिसमें आप मधुमक्खियों का पालन करके उनके शहद (Honey) को सही तरीके से एकत्रित कर सकें अगर आप अच्छी तरह से मधुमक्खियों के लिए ढांचे की व्यवस्था करते हैं तो यह आपके लिए काफी फायदेमंद (Beneficial) होगा और आप अधिक से अधिक मधुमक्खियों का पालन करके शहद का निर्माण कर सकेंगे।

मधुमक्खी पालन के लिए अच्छी प्रजाति की मधुमक्खी का चुनाव करें

मधुमक्खी पालन के लिए मधुमक्खियों की कई प्रजातियों का इस्तेमाल (use) किया जाता है अगर आप अधिक मात्रा में शहद का प्रोडक्शन करने वाली मधुमक्खी प्रजाति जैसे- एपिस मेलीफेरा (Apis mellifera) को चुनते हैं तो आप इनका पालन करके आसानी से एक बॉक्स से प्रतिवर्ष 70 किलो से 80 किलो तक शहर प्राप्त कर सकते हैं. इसका प्रमुख कारण यह है कि इस प्रजाति की मधुमक्खियां अधिक शहद का प्रोडक्शन करने के साथ अधिक अंडे (Egg) देती हैं।

शहद निकालने के लिए जरूरी चीजों की व्यवस्था करें

मधुमक्खी पालन करने में सबसे जरूरी (Essential) सही तरीके से मधुमक्खी के शहद को निकालने की आवश्यकता होती है जिसके लिए आपको कई जरूरी चीजें जैसे- चाकू, ड्रम, शहद रिमूविंग मशीन, और हाथों में सुरक्षा के लिए अच्छी क्वालिटी के दस्तानों (Gloves) आदि की व्यवस्था करनी होगी।

शहद रिमूविंग मशीन को आप मार्केट से लगभग ₹25000 की कीमत पर खरीद (buy) सकते हैं आप चाहे तो पुरानी मशीन से भी शहद निकाल सकते हैं लेकिन मशीन खरीदते समय आपको यह जांच (Investigation) कर लेनी होगी कि मशीन सही से कार्य कर रही है अथवा नहीं।

मधुमक्खी पालन करने की प्रक्रिया क्या है?

मधुमक्खी पालन करने के लिए सबसे उचित समय नवंबर से जनवरी माह (November to January) होता है। अगर आप नवंबर से जनवरी महीने के बीच मधुमक्खी पालन करते हैं तो आपको पहले पेटियों को एक जगह पर रखना होगा और ध्यान रहे कि सभी पेटियां (Patties) जमीन से लगभग 6 इंच ऊपर होनी चाहिए

ताकि वह जमीन की नमी से बची रहे। इन बेटियों के अंदर मधुमक्खियां शहद (Honey) का निर्माण करेंगे. आप चाहे तो मधुमक्खियों (Bees) के लिए पेटियों के अंदर खाना भी रख सकते हैं जिससे वह अच्छी क्वालिटी में शहद (Honey) का प्रोडक्शन करेंगी।

शहद निकालने की प्रक्रिया

मधुमक्खी का पालन करने के दौरान आपको हर 5 से 6 दिनों में बेटियों से शहद को निकालना होगा क्योंकि 5 से 6 दिन में मधुमक्खी के छत्ते (Honeycomb) से शहद से पूरी तरह से भर जाते हैं वैसे तो बेटियों से शहद निकालने के लिए लोग अपने हाथों का उपयोग करते हैं लेकिन इससे अधिकतर शहर खराब हो जाता है ऐसी स्थिति में आप शहर निकालने वाली मशीन (machine) का उपयोग कर सकते हैं।

जिससे आप पूरी सुरक्षित तरीके से शहद को निकाल पाएंगे और शहद की खराबी भी नहीं होगी। मधुमक्खियों की पेटियों से शहद निकालने के लिए सबसे पहले आपको चाकू के माध्यम से सावधानी (Precautionary) पूर्वक मधुमक्खी के छत्ते को निकालना होगा और फिर मशीन में खा शहद के भरे हुए हादसों को लगाकर मशीन को ऑन करना होगा,

जिसके बाद बड़ी आसानी से मशीन शहद (Honey) को आसानी से निकाल देगी। जिसके बाद आपको शहद को सुरक्षित रखने के लिए 24 घंटे एक निश्चित तापमान पर रखना होगा तत्पश्चात आप इसे पैक करके मार्केट में उचित दाम पर बेचकर मुनाफा कमा सकेंगे।

मधुमक्खी पालन के लिए ट्रेनिंग प्रशिक्षण कहां से प्राप्त करें?

मधुमक्खी पालन का व्यवसाय शुरू (Beekeeping business start) करने से पूर्व आपको इससे संबंधित समस्त जानकारी एवं प्रशिक्षण प्राप्त कर लेना चाहिए जिसके लिए आप अपने नजदीकी मधुमक्खी पालन व्यवसाय (Beekeeping business) का पालन करने वाले व्यक्ति के पास जाकर अथवा किसी संस्थान से ट्रेनिंग प्राप्त कर सकते हैं।

या फिर आप चाहें तो अपने नजदीकी जिला कृषि विज्ञान केंद्र (Krishi Vigyan Kendra) में जाकर मधुमक्खी पालन से संबंधित ट्रेनिंग ले सकते हैं जिसके लिए आपको ₹4000 से लेकर ₹5000 तक खर्च करने होंगे जिसके बाद आप आसानी से मधुमक्खी पालन करके अधिक पैसा (Money) कमा पाएंगे।

मधुमक्खी पालन व्यवसाय में कुछ धयान देने वाली बाते

हालांकि मधुमक्खी पालन एक ऐसा व्यवसाय है जिसके माध्यम से आप शहद का उत्पाद (Products) करके बहुत सारा मुनाफा कमा सकते हैं लेकिन इस व्यवसाय को शुरू करने से पूर्व आपको कुछ बातों का ध्यान रखना है जो इस प्रकार से नीचे दी गई है, जैसे-

  • मधुमक्खी पालन करने के लिए सही समय और सोच समझकर ही शुरू करें।
  • अगर आप मधुमक्खी पालन (Beekeeping) करके अधिक मुनाफा कमाना चाहते हैं तो सही प्रजाति की मधुमक्खी का चयन जरूर करें।
  • मधुमक्खी पालन करने के बाद छत्ते से शहद निकालने के लिए सही समय पर ही शहद (Honey) नहीं निकालते हैं जिसकी वजह से उन्हें नुकसान उठाना पड़ता है।
  • मधुमक्खी के छत्ते से शहद तभी निकाले जब छत्ते में मधुमक्खियों के अंडे (Egg) ना हो क्योंकि अगर आप उन लोगों में शहर निकालेंगे तो शहर की गुणवत्ता (Quilty) खराब होगी साथ ही मधुमक्खियों की संख्या भी कम होगी।
  • मधुमक्खी के छत्ते से शहद को सुरक्षित तरीके से निकालने के लिए सावधानी बरतें अगर आपको शहद (Honey) निकालने के बारे में जानकारी नहीं है तो आप अन्य मधुमक्खी पालन करने वाले से मदद (Help) लेकर शहद निकलवा सकते हैं।
  • आप जिस जगह पर मधुमक्खी का पालन कर रहे हैं वह जगह एकदम साफ और स्वच्छ (Perfectly clean and hygienic) होनी चाहिए ताकि मधुमक्खियों को कीड़े मकोड़ों की वजह से नुकसान न उठाना पड़े।
  • मधुमक्खियों में होने वाले रोग से उन्हें बचाने के लिए आप पानी में शक्कर मिलाकर (sugar to water Mixture) मधुमक्खियों के क्षेत्रों में रख सकते हैं जिससे उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी।

मधुमक्खी पालन व्यवसाय में कितना खर्च आता है?

यह एक ऐसा व्यवसाय है जो कोई भी व्यक्ति कम निवेश पर छोटे स्तर पर आसानी (Easy) से शुरू कर सकता है अगर आपके पास अधिक पैसे हैं तो फिर आप मधुमक्खी पालन (Beekeeping) को बड़े स्तर से शुरू कर सकते हैं लेकिन इस बिजनेस को शुरू करने से पूर्व आप इससे संबंधित (Related) सभी जानकारी और कुशल प्रशिक्षण (Efficient training) प्राप्त कर लें।

अन्यथा आप को नुकसान उठाना पड़ सकता है अगर आप छोटे स्तर (Small level) पर मधुमक्खी पालन को शुरू करते हैं तो आपको शुरुआती समय में ₹20000 खर्च कर देंगे और वही आप इसे बड़े स्तर पर शुरू करते हैं तो कम से कम ₹45000 की लागत आएगी, उसके बाद आप हर साल मधुमक्खियों का शहद (Honey) निकालकर 4 से 5 गुना अधिक मुनाफा कमा सकते हैं।

मधुमक्खी पालन व्यवसाय सम्बंधित प्रश्न उत्तर FAQs

मधुमक्खी पालन कैसे करें?

अगर आप मधुमक्खी पालन करना चाहते हैं तो पहले आपको सही जगह और फिर अच्छी प्रजाति की मधुमक्खियों को खरीदना होगा, जिसके बाद आप हर महीने शायद का प्रोडक्शन करा कर अच्छा मुनाफा कमा सकते हैं।

मधुमक्खी पालन एवं शहद बनाने का बिजनेस शुरू करने के लिए कितना खर्च आता है?

अगर आप इस बिजनेस को छोटे स्तर पर शुरू करते हैं तो आपको शुरुआती समय में कम से कम ₹20000 और बड़े स्तर पर शुरू करने पर ₹40000 खर्च करने होंगे।

मधुमक्खी पालन का व्यवसाय कौन शुरू कर सकता है?

कोई भी व्यक्ति आसानी से किसी भी स्थान पर मधुमक्खी पालन का व्यवसाय शुरू करके शहद प्रोडक्शन करवाकर अच्छा मुनाफा कमा सकता है।

मधुमक्खी पालन करने का सही समय कौन सा है?

मधुमक्खी पालन करने का सही समय नवंबर से जनवरी महीने का होता है जिसमें मधुमक्खियां अधिक से अधिक शहद का प्रोडक्शन करती हैं

निष्कर्ष

आज हमने अपने पाठकों के लिए अपनी वेबसाइट के इस ब्लॉग पोस्ट के माध्यम से मधुमक्खी पालन एवं शहद बनाने का बिजनेस कैसे शुरू करें? के संबंध में पूरी जानकारी विस्तार पूर्वक उपलब्ध कराई है अगर अभी भी आपके मन में इस पोस्ट से संबंधित कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तो आप नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में कमेंट करके अपने दर्शन को हम से पूछ सकते हैं हम आपके द्वारा की गई प्रतिक्रिया का जल्द ही जवाब देंगे तब तक हमारी वेबसाइट पर बने रहें।

Spread the love

अपना सवाल यहाँ पूछें। कमेंट में अपना मोबाइल नंबर, आधार नंबर और अकाउंट नंबर जैसी पर्सनल जानकारी न शेयर करें।