झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2021 | Jharkhand Cyber crime Prevention Scheme

Jharkhand Cyber crime Prevention Scheme :- इस डिजिटल दुनिया में आये दिन बढ़ रही इस टेक्नोलॉजी के साइबर क्राइम भी बढ़ते जा रहे है और इन साइबर क्राइम का सबसे ज्यादा शिकार महिलाएं और बच्चे हो रहे है। इस परेशानी को देखते हुए झारखण्ड सरकार ने एक नई योजना की शुरुआत की है जिसका नाम “झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2021” रखा गया है। आज के अपने इस आर्टिकल में हम आपको झारखण्ड सरकार द्वारा शुरू की गयी इस योजना के बारे में बतायेंगे, अगर आप इस योजना के बारे में जानकारी लेना चाहते है तो इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

Jharkhand Cybercrime Prevention Scheme के अंतर्गत राज्य में साइबर क्राइम को कम करने के लिए सभी जरुरी कदम उठाये जायेंगे, और साथ ही लोगो को साइबर क्राइम और इनसे बचने के तरीके के बारे में बताया जायेगा, जिससे लोग इस तरह के साइबर क्राइम से बच सके और अपने डाटा और पैसो को सुरक्षित रख सके। इस योजना के तहत सरकार द्वारा राज्य के कुछ बच्चों को साइबर क्राइम से बचने के लिए प्रशिक्षण दिया जायेगा, जिससे यह लोग अपने आप को सुरक्षित रख सके।

Contents

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2021 | Jharkhand Cybercrime Prevention Scheme

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना

झारखंड राज्य सरकार द्वारा इस “झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2021” की घोषणा 17 दिसंबर 2020 को की गयी थी। इस योजना को शुरू करने का मुख्य उदेश्य राज्य के बढ़ रहे साइबर क्राइम को कम करना और साथ ही लोगो को साइबर क्राइम के बारे में जानकारी देना है, इसी कारण झारखण्ड राज्य में इस योजना की शुरुआत की गयी है।

इस योजना के शुरू होने से अब किसी भी साइबर क्राइम की रिपोर्ट भी ऑनलाइन दर्ज कराई जा सकेगी और जल्द ही उसका निर्धारण किया जा सकेगा। Jharkhand Cybercrime Prevention Scheme के अंतर्गत मुख्य रूप से झारखण्ड राज्य की महिलाओं और बच्चो को साइबर क्राइम से बचने के बारे में बताया जायेगा।

अगर आप नही जानते तो आपको बता दू कि भारत में सन 2019 में साइबर क्राइम द्वारा कुल एक लाख करोड़ रुपये का नुकसान होता है इस बात से आप यह अंदाजा लगा सकते है कि देश के नागरिको को साइबर क्राइम के बारे में जानकारी होना कितना जरुरी है।

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना की जरूरत । Importance of Jharkhand Cybercrime Prevention Scheme

झारखण्ड सरकार द्वारा किये गये एक सुर्वे के अनुसार झारखण्ड में पिछले 5 सालों में लगभग 4803 साइबर क्राइम हुए थे और जिसमे से पुलिस द्वारा सिर्फ 1536 मामलो को ही हल किया गया था। क्योंकि इस तरह के साइबर क्राइम आये दिन बढ़ते जा रहे है ।

इसलिए झारखण्ड सरकार इस योजना के तहत कुछ स्कूलों के छात्रों को सामुदायिक पुलिसिंग के जरिये प्रशिक्षण दिया जायेगा, जिससे छात्रों को साइबर क्राइम के बारे में ज्ञान प्राप्त हो सके और बाद में वह साइबर क्राइम से सम्बंधित किसी केस में पुलिस की मदद कर सके।

इस Jharkhand Cybercrime Prevention Scheme के तहत राज्य में हो रहे साइबर क्राइम को कम करने के लिए एक टीम का गठन किया जायेगा और साथ ही राज्य की महिलाओ और बच्चो को भी साइबर क्राइम से बचने के लिए जरुरी जानकारी दी जाएगी।

जिससे उनको साइबर क्राइम का शिकार होने से बचाया जा सके। इस योजना का लाभ लोगो तक जल्द से जल्द पहुचाने के लिए झारखण्ड सरकार द्वारा एक पोर्टल भी लांच किया जायेगा जिससे लोगो को साइबर क्राइम की रिपोर्ट करने में आसानी हो सके।

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना के उद्देश्य । Objectives of Jharkhand Cybercrime Prevention Scheme 2021

झारखण्ड सरकार द्वारा शुरू की गयी Cyber Crime Prevention Scheme का मुख्य उद्देश्य अपने राज्य में हो रहे साइबर क्राइम को कम करना और साइबर क्राइम के शिकार हो रहे लोगो को बचाना है और इस लिए सरकार ने कुछ स्कूलों और कॉलेज के छात्रो को इस योजना के तहत साइबर क्राइम का प्रशिक्षण देने का फैसला लिया है।

इससे राज्य के नागरिको को Cyber Crime के बारे में जानकारी मिल सकेगी और कुछ छात्र पुलिस को Cyber Crime का केस हल करने में मदद कर सकेगे। झारखण्ड सरकार के इस फैसले से राज्य के बहुत से नागरिको को इस योजना का लाभ मिल सकेगा और राज्य में साइबर क्राइम की दर में कमी आएगी।

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2021 में साइबर क्राइम की ऑनलाइन रिपोर्टिग । Online reporting of cybercrime under Jharkhand Cybercrime Prevention Scheme


झारखण्ड सरकार की इस साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना के तहत राज्य के नागरिको को साइबर क्राइम से जुडी हुई अपनी किसी भी तरह की कोई समस्या को रिपोर्ट करने के लिए साइबर क्राइम के कार्यालय में जाने की जरूरत नही होगी और इसके लिए सरकार द्वारा एक पोर्टल बनाया जायेगा, जिससे साइबर क्राइम से जुड़े हुए किसी तरह की कोई भी रिपोर्ट ऑनलाइन दर्ज की जा सके।

झारखण्ड पुलिस द्वारा खोला जाने वाला यह पोर्टल सीसीटीएनएस प्रोजेक्ट का ही एक हिस्सा होगा जो साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना से जुड़े हुए साइबर अपराध से संबंधित जानकारी के लिए राष्ट्रीय, राज्य और स्थानीय स्तर पर कानून प्रवर्तन और नियामक एजेंसी के तहत काम करेगा।

इसके साथ ही छात्रो को इस पोर्टल पर साइबर क्राइम फॉरेंसिक प्रयोगशालाओं के साथ मिलकर काम करने का मौका मिलेगा और राज्य में साइबर क्राइम के मामले कम हो सकेगे।

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना के तहत बनेगी फॉरेंसिक प्रयोगशाला ।

साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना के तहत साइबर क्राइम के केस को अच्छी तरह से और जल्दी हल करने के लिए झारखण्ड सरकार एक फॉरेंसिक प्रयोगशाला भी बनाई जाएगी, जो साइबर क्राइम के लिए 24 घंटे काम करेगी और ऐसे लोगो की मदद करेगी जो लोग साइबर क्राइम का शिकार होते है।

इस राष्ट्रीय साइबर फॉरेंसिक प्रयोगशाला में सभी आधुनिक फॉरेंसिक उपकरण होगे जिससे कि आरोपी को जल्दी से जल्दी पकड़ा जा सकेगा। इस राष्ट्रीय साइबर फॉरेंसिक प्रयोगशाला में देशभर के साइबर सिक्योरिटी विशेषज्ञ काम करेंगे और साइबर क्राइम लॉ को ठीक तरीके से संचालित करने में सरकार की सहायता करेंगे।

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना के लिए जरुरी कानून | Necessary legislation for Jharkhand Cybercrime Prevention Scheme

आज के समय में देश में बढ़ रहे साइबर क्राइम को रोकने के लिए सरकार द्वारा नये नये कानून बनाये जा रहे है जिससे कि हो रहे साइबर क्राइम को कम किया जा सके और लोगो को साइबर क्राइम का शिकार होने से बचाया जा सके।

इसके लिए साइबर क्राइम के क्षेत्र में शोध करके नये साइबर क्राइम एक्ट में अमेंडमेंट किए जाएंगे और जिससे बढ़ रहे साइबर क्राइम को रोका जा सकेगा। इस शोध को रिसर्च एकेडमिक इंस्टीट्यूशन के साथ संयुक्त रूप से मिलकर किया जाएगा।

इसके साथ ही लोगो में साइबर क्राइम को लेकर जागरूकता फैलाई जाएगी जिससे स्कूलों में पढने वाले बच्चो को साइबर क्राइम से संबंधित जानकारी प्रदान की जाएगी कि उनको अपने बैंक की डिटेल्स को किसी को नही बताना चाहिए।

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना की विशेषताएँ । Important Features of Jharkhand Cyber crime Prevention Scheme

  • झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना के अंतर्गत हर जिले के कुछ स्कूलों में पढने वाले बच्चो को भी प्रशिक्षण दिया जायेगा जिससे उनको साइबर क्राइम के बारे में जानकारी मिल सके और वह साइबर सेल में भर्ती होकर पुलिस साइबर सेल की मदद कर सके।
  • इस साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना का मुख्य उद्देश्य राज्य की महिलाओं और बच्चों को साइबर क्राइम से बचाना है क्योंकि साइबर क्राइम में ऐसे नागरिको को ही ज्यादा निशाना बनाया जाता है।
  • इस झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना की शुरुआत झारखंड सरकार द्वारा 17 दिसंबर 2020 को राज्य में बढ़ते हुए साइबर क्राइम को कम करने के लिए की गयी है।
  • इस योजना के शुरू होने के बाद अब राज्य के नागरिक किसी हबी साइबर क्राइम की घटना को ऑनलाइन साइबर अपराध पंजीकरण के पोर्टल से ऑनलाइन रजिस्टर कर पायेगे और इस योजना के तहत उनकी उस रिपोर्ट पर कार्यवाही की जाएगी।
  • इस योजना के अंतर्गत साइबर क्राइम की पुलिस के आधुनिकीकरण पर भी विशेष रूप से ध्यान दिया जाएगा।

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2021 में अपनी शिकायत को कैसे दर्ज करें?। How to file your complaint online in Jharkhand Cybercrime Prevention Scheme

अगर आपके साथ कोई साइबर क्राइम हुआ है और आप साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना उस क्राइम की रिपोर्ट करना चाहते है तो आपको बता दू कि अभी सरकार द्वारा केवल इस योजना की घोषणा की गयी है और अभी तक इस साइबर क्राइम को ऑनलाइन रजिस्टर करने के लिए कोई पोर्टल लांच नही किया गया है।

इसलिए अगर आप इस किसी तरह की कोई रिपोर्ट कराना चाहते है तो उसके लिए आप अपने पास के साइबर क्राइम कार्यालय में जाकर अपनीशिकायत दर्ज करा सकते है।

अभी झारखण्ड सरकार द्वारा इस योजना को लागु करने के लिए कुछ समय और लगेगा इसलिए आप इस इंतजार कीजिये, और जैसी ही इस झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना से जुड़ा हुआ कोई अपडेट आता है तो आपको हमारी इस वेबसाइट द्वारा सूचित कर दिया जायेगा।

FAQ

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना किस राज्य में शुरू की गयी है?

इस योजना की शुरुआत झारखण्ड राज्य में की गयी है क्योंकि देश के सबसे ज्यादा साइबर क्राइम इसी राज्य से होते है। इसलिए सरकार द्वारा सबसे पहले झारखण्ड राज्य में इस योजना को शुरू करने का फैसला किया गया है।

क्या झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना के तहत साइबर क्राइम की शिकायत कर सकते है?

जी हाँ, आप इस योजना के तहत अपने साथ हुए किसी भी साइबर क्राइम की शिकायत ऑनलाइन कर सकेगे और इसके लिए सरकार द्वारा एक पोर्टल भी लांच किया जायेगा।

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना के तहत अपनी शिकायत कैसे दर्ज करें?

अगर आप अपने साथ हुए किसी साइबर क्राइम की शिकायत दर्ज कराना चाहते है तो आप इस योजना के पोर्टल पर जाकर अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है। शिकायत दर्ज कराने के प्रोसेस के बारे में ऊपर में step By step में बताया गया है

झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2021 क्या है?

यह योजना झारखण्ड सरकार अपने राज्य में साइबर क्राइम को कम करने के लिए शुरू की गयी है। इस योजना के तहत राज्य के नागरिको और स्कूल के छात्रो को साइबर क्राइम के बारे में बताया जायेगा कि किस प्रकार आप इनसे बच सकते है।


झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2021 के लाभ क्या है?

इस योजना का सबसे बड़ा लाभ यह है कि इस योजना के तहत राज्य के छात्रो और महिलाओ को साइबर क्राइम के बारे में जानकारी प्रदान की जाएगी और उनको जागरूक किया जायेगा जिससे वह साइबर क्राइम का शिकार ना बनें।

झारखंड साइबर क्राईम योजना की शुरुआत क्यों की गई है

झारखंड राज्य में बढ़ते साइबर क्राइम को रोकने के लिए झारखंड प्रदेश के मुख्यमंत्री ने साइबर क्राइम योजना की शुरुआत की है। जिसके अंतर्गत राज्य में बढ़ते साइबर क्राइम को रोका जाएगा।

निष्कर्ष

झारखंड राज्य में बढ़ रहे साइबरक्राइम को देखते हुए झारखंड सरकार के द्वारा शुरू की गई झारखण्ड साइबर क्राइम प्रिवेंशन योजना 2021 काफी महत्वकांक्षी योजना है इस योजना के शुरू होने से राज्य में हो रहे साइबर क्राइम पर रोक लगेगी।

बाकी आज हम आपको अपने इस आर्टिकल  के माध्यम से झारखंड साइबर क्राइम प्रिवेशन योजना से जुड़ी सभी जानकारी को साझा कर चुके हैं। जो कि आपकी जानकारी के लिए काफी महत्वपूर्ण थी।

उम्मीद करता हूं कि दी की जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित हुई होगी। अगर आप ऐसे लेना से जुड़ा कोई प्रश्न है तो आप हमें शामिल करके पूछ सकते हैं हम जल्द आपके साथ जोड़कर आपके प्रश्न का जवाब देंगे। धन्यवाद

Spread the love

Leave a Comment