[Online Registration] झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना | 100 दिन रोज़गार

Jharkhand Shramik Rojgar Scheme 2021 Registration :- कोरोना वायरस के बढ़ते प्रोकोप के कारण लगे राजस्थान राज्य में लॉकडाउन के कारण ग्रामीण क्षेत्रो की तरह शहरी क्षेत्रों में बेरोज़गारी पनपने लगी हैं। जिससे राज्य के नागरिको को अपनी और अपने परिवार की आजीविका चलाने में काफी परेशानियाँ बढ़ती जा रही है। इन परेशानियों को देखते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना का शुभारंभ किया हैं। इस योजना के अंतर्गत शहर में निवास करने वाली श्रमिक नागरिको को सरकार एक साल में 100 दिन का रोज़गार उपलब्ध कराएंगी।

प्रदेश सरकार ने झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना को महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना की तर्ज पर शुरू किया हैं। जिस तरह से प्रदेश सरकार (MGNREGS) के अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराती है उसी तरह से अब शहरी क्षेत्रों में श्रमिकों को सरकार ने 100 दिन रोज़गार उपलब्ध कराने का वादा किया हैं। दोस्तों इस योजना का लाभ आप कैसे ले सकते है? सरकार ने इस योजना के लिए क्या जरूरी दस्तावेज और पात्रता निर्धारित की हैं? उनकी पूरी जानकारी हम आपको अपने इस आर्टिकल में देने जा रहे हैं। तो आइए जानते है –

Contents

झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना।क्या है?

झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना 5

देश भर में लगे लॉकडाउन के कारण झारखण्ड प्रवासी मज़दूर अपने राज्य में वापसी कर रहे है। राज्य में प्रवासी मज़दूरो को सरकार ने रोज़गार उपलब्ध कराने के लिए झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना का शुभारंभ कर दिया है। इस योजना का लाभ सिर्फ़ शहरी प्रवासी मज़दूरों को दिया जाएगा। जिस तरह से ग्रामीण क्षेत्रो में MGNREGS के अंतर्गत ग्रामीण प्रवासी मजदूरों को एक साल में 100 दिन का रोजगार दिया जाता है। उसी तरह से झारखंड मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना के अंतर्गत शहरी श्रमिक प्रवासी मजदूरों को साल में 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा।

प्रदेश सरकार ने इस योजना के अंतर्गत 500000 परिवारों को लाभ देने का वादा किया है। इसके साथ ही यह भी सुनिश्चित किया है। कि अगर प्रवासी मजदूर को 15 दिनों में काम नहीं मिलता है तो उसे बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा। योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को ऑनलाइन आवेदन करके जॉब कार्ड बनवाना होगा। जिसके आधार पर लाभार्थी को 100 दिन का रोज़गार उपलब्ध कराया जाएगा।

योजना का नाममुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना
राज्यझारखण्ड
किसने शुरू कीमुख्यमंत्री हेमंत सोरेन
लाभार्थी शहरी प्रवासी मज़दूर
रोज़गार100 दिन
उद्देश्य रोजगार उपलब्ध कराना
विभाग नगर विकास एवं आवास विभाग
वेबसाइट https://msy.jharkhand.gov.in/

झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना में शामिल किए गए कार्य

प्रवासी मज़दूरों राज्य में रोज़गार मुहैया कराने के लिए झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना सरकार के द्वारा काफ़ी अहम कदम उठाया गया हैं। योजना के अंतर्गत प्रवासी मज़दूरों को जॉब कार्ड जारी करके राज्य में ही 1 साल में 100 दिन रोज़गार उपलब्ध कराएगी। जानकारी दे दे कि प्रवासी मजदूरों को इस कार्ड के आधार पर भवन निर्माण, विद्युत विभाग , वन विभाग, पेयजल विभाग, स्वच्छता विभाग, भवन प्रमंडल आदि सरकार के द्वारा शामिल किए गए विभागों में 100 दिन रोज़गार उपलब्ध कराया जाएगा।

Jharkhand Shramik Rojgar Scheme 2021 का उद्देश्य

आज ज्यादातर लोग अपने राज्य से दूसरे राज्य में रोज़गार, मज़दूरी करते है, ताकि वह अपने और अपने परिवार के सदस्यों की आजीविका चलाने में हाथ बंटा सके। लेकिन पिछले साल 2020 से भारत मे बढ़ते कोरोना के प्रकोप के कारण लॉकडाउन लगा हुआ है। जिससे लोगों के व्यवसाय, मजदूरी, रोजगार सब बंद हो चुके है।

इस स्थिति में जो झारखण्ड के प्रवासी मज़दूर जो बाहर मज़दूरी कर रहे थे वह अपने घर वापसी कर रहे है। लेकिन राज्य में उनके लिए कोई रोजगार ना होने के कारण उन्हें अपनी आजीविका को चलाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इसे ही ध्यान में रखते हुए झारखंड सरकार ने शहरी प्रवासी मजदूरों के लिए झारखंड मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना को शुरू किया है। ताकि राज्य के प्रवासी मजदूरों को राज्य में ही रोजगार मिल सके। और उन्हें अपने राज्य से मजदूरी करने दूसरे राज्य में पलायन न करना पड़े।

झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना के लिए जरूरी पात्रता और जरूरी दस्तावेज

अमित रोजगार योजना का लाभ लेने के लिए सरकार के द्वारा निर्धारित की गई कुछ पात्रता और ज़रूरी दस्तावेज का होना आवश्यक है। जो निम्नलिखित है –

  • योजना का लाभ सिर्फ झारखण्ड प्रवासी मजदूरों को दिया जाएगा।
  • झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना कालाकुंड प्रवासी मजदूरों को दिया जाएगा जो 1 अप्रैल 2005 से शहरी क्षेत्र में निवास कर रहे है।
  • प्रवासी मजदूर का पहचान पत्र के रूप में आधार कार्ड आवेदन करते समय लिया जाएगा।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए निवास प्रमाण पत्र होना भी अनिवार्य है।
  • आवेदन फॉर्म वेरीफाई करने के लिए लाभार्थी व्यक्ति का मोबाइल नंबर होना जरूरी है।
  • आवेदन फॉर्म में लाभार्थी के लगाने के लिए 4 पासपोर्ट फोटो की आवश्यकता होगी।

झारखंड मुख्यमंत्री श्रमिक रोजगार योजना में ऑनलाइन पंजीकरण कैसे करें? | Registration of Jharkhand Shramik Rojgar Scheme

शहरी प्रवासी मजदूरों को लिए झारखण्ड सरकार की यह काफी महत्वाकांक्षी योजना हैं। अगर आप झारखण्ड शहरी प्रवासी मजदूर है तो नीचे दिए गए स्टेप को फॉलो करके इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।

  • सबसे पहले आपको झारखण्ड सरकार के द्वारा इस योजना से जुड़े पोर्टल वेबसाइट पर जाना होगा।
  • आप इस पोर्टल वेबसाइट पर यहाँ क्लिक करके डायरेक्ट जा सकते है।
  • दिए गए लिंक पर क्लिक करके आप वेबसाइट के होमपेज पर आ जाएंगे। वेबसाइट के होमपेज पर पर आपको Application के Option में Apply For Job Card का option मिलेगा जहां पर आपको क्लिक कर देना हैं। जैसे कि आप नींचे स्क्रीन शार्ट में भी देख सकते है।
झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना
  • अब आपके सामने झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना से संबंधित आवेदन फॉर्म ओपन होकर आ जायेगा।
  • इस आवेदन फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी जैसे पता, ज़िला, शहरी स्थानीय निकाय, जन्मतिथि, परिवार के मुखिया का नाम, आधार नंबर, मोबाइल नंबर आदि को ध्यानपूर्वक भर देना हैं।
झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना 1
झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना 2
  • सभी जानकारी देने के बाद आपको नीचे दिए गए मैं उपरोक्त घोषणा से सहमत हूं बॉक्स पर क्लिक करके दिए गए कैप्चा कोड को डालकर सबमिट बटन पर क्लिक कर देना है।
  • सबमिट बटन पर क्लिक करते ही आपको नया पेज मिलेगा जहां पर आपको जरूरी दस्तावेज निवास प्रमाण को उपलोड करना होगा।
  • निवास प्रमाण पत्र अपलोड करते ही आपका इस योजना के लिए आवेदन आवेदन पत्र स्वीकृति के लिए विभाग के पास चला जाएगा। और आपको यहां पर आवेदन फॉर्म संख्या मिल जाएगी जिससे आप को नोट कर के रख लेना है।
  • आवेदन करने के 15 से 20 दिन के बाद आपका जॉब कार्ड बन जायेगा जिसे आप वेबसाइट से डाउनलोड कर सकेंगे।

झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना जॉब कार्ड कैसे डाउनलोड करें? | How to download Jharkhand Shramik Rojgar Scheme Job card

श्रमिक रोजगार योजना जॉब कार्ड के आधार पर ही प्रदेश सरकार प्रवासी मजदूर को राज्य में 100 दिन का रोजगार मुहैया कराएगी। अगर आप इस योजना में जॉब कार्ड बनाने के लिए आवेदन कर चुके हैं। तो अब आप इससे नीचे दिए गए तरीके को कॉल करके डाउनलोड कर सकते हैं। ताकि आपको इस योजना के अंतर्गत आसानी से रोजगार प्राप्त हो सके।

  • सबसे पहले आपको झारखण्ड सरकार के द्वारा इस योजना से जुड़े पोर्टल https://msy.jharkhand.gov.in/ वेबसाइट पर जाना होगा।
  • वेबसाइट के होमपेज पर आपको application के Option में Download Job Card का option मिलेगा जहां पर आपको क्लिक कर देना हैं।
झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना 3
  • अब आपको यहां नया पेज मिलेगा जहाँ पर आपको एप्लीकेशन सँख्या और आधार कार्ड नंबर दर्ज करना हैं। और कैप्चा कोड डालकर submit पर क्लिक कर देना है।
झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना 4
  • अब आपके सामने आपका job Card निकलकर आ जायेगा जिसे आप डाउनलोड कर सकते है।

झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना के लाभ | Benefit of Jharkhand Shramik Rojgar Scheme

झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना के शुरू होने से शहर में निवास करने वाले प्रवासी मजदूर को क्या लाभ होंगे उनके कुछ महत्व पॉइंट नीचे पड़ सकते हैं –

  • झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना के अंतर्गत प्रदेश के शहरी क्षेत्रों में निवास करने वाले प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा।
  • इस योजना के अंतर्गत सरकार प्रवासी मजदूर को जॉब कार्ड प्रदान करते 1 साल में 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराएगी।
  • योजना का लाभ 18 साल या उससे ज्यादा के अकुशल श्रमिक मजदूर ले सकते है।
  • झारखंड श्रमिक रोजगार योजना के अंतर्गत अगर प्रवासी मजदूर को 15 दिन में काम नहीं मिलता है तो उसे रोजगार भत्ता भी उपलब्ध कराया जाएगा।

झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना के अंतर्गत कार्यस्थल पर मिलने वाली सुविधाएं

इस योजना के अंतर्गत प्रदेश सरकार जहाँ पर श्रमिक मजदूरों को रोज़गार देगी वहाँ श्रमिक को किसी प्रकार की समस्या न हो इसलिए वहां कुछ विशेष सुविधाओ का प्रबंध किया जाएगा। जैसे कि शुद्ध पेयजल, स्वास्थ्य चिकित्सा और अगर श्रमिक लाभार्थी महिला है एयर उसके बच्चे है तो तो बच्चों को रखने के भी व्यवस्था की जाएगी।

रोजगार न मिलने पर बेरोजगारी भत्ता प्रदान करने का प्रबंध

शहरी श्रमिकों के लिए काफी अच्छी योजना है। साथ ही योजना की अच्छी बात यह भी है कि अगर शहरी प्रवासी मजदूर को राज्य में इस योजना के अंतर्गत 15 दिन में काम नहीं मिलता है तो उसे झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना के तहत सरकार बेरोजगारी भत्ता भी प्रदान करेगी।

Jharkhand Shramik Rojgar Scheme से संबंधित प्रश्न उत्तर

झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना है?

शहरी प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिए झारखंड के मुख्यमंत्री जी के द्वारा मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना का शुभारंभ किया गया है। जिसके अंतर्गत शहर के प्रवासी मजदूरों को 100 दिन रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा।

झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना के अंतर्गत कितने दिन रोज़गार दिया जाएगा?

Jharkhand Shramik Rojgar Scheme के अंतर्गत शहरी प्रवासी मजदूरों को मनरेगा की तर्ज पर 100 दिन रोजगार दिया जाएगा।

क्या Jharkhand Shramik Rojgar Scheme के तहत बेरोजगारी भत्ता भी दिया जाएगा?

जी हाँ, अगर प्रवासी मजदूर को इस योजना के अंतर्गत 15 दिन में रोजगार नहीं मिलता है तो उसे बेरोजगारी भत्ता दिया जाएगा।

Jharkhand Shramik Rojgar Scheme का लाभ लेने के लिए क्या करना होगा?

इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको https://msy.jharkhand.gov.in/ वेबसाइट पर जाकर जॉब कार्ड बनवाना होगा। जिसकी पूरी जानकारी ऊपर दी गई है।

संक्षेप में

भारत मे पहले से बेरोजगारी भारत सरकार के लिए अहम मुद्दा बना हुआ था। जो पिछले साल कोरोना संक्रमण के कारण देश में लगे लॉकडाउन के कारण और बढ़ता जा रहा है। सभी राज्य के प्रवासी मज़दूर जो अपनी और अपने परिवार की आजीविका को सुचारू रूप से चलाने के लिए अन्य राज्य में मजदूरी कर रहे थे वह अब लॉकडाउन होने के कारण प्रदेश वापसी कर रहे हैं।

झारखण्ड प्रदेश में वापसी कर रहे प्रवासी मजदूरों को उनके ही राज्य में रोजगार मिल सके इसलिए प्रदेश सरकार ने झारखण्ड मुख्यमंत्री श्रमिक रोज़गार योजना को लागू कर दिया है। जिसके बारे में आज हमने आपको पूरी जानकारी साझा की है मैं उम्मीद करता हूं कि आपको इस आर्टिकल में इस योजना के अंतर्गत दी गई जानकारी उपयोगी साबित रही होगी।

Spread the love

Leave a Comment