झारखंड वैकल्पिक खेती योजना 2024 क्या है? | लाभ, पात्रता, उद्देश्य व अप्लाई प्रक्रिया | Jharkhand Vaikalpik Kheti Yojana

झारखंड वैकल्पिक खेती योजना 2024 क्या है? | Jharkhand Vaikalpik Kheti Yojana Kya Hai in Hindi | झारखंड वैकल्पिक खेती योजना हेतु पात्रता मापदंड | Eligibility Criteria For Jharkhand Alternative Farming Scheme | झारखंड वैकल्पिक खेती योजना के लिए आवेदन कैसे करें? | How to apply for Jharkhand Alternative Farming Scheme? ||

पानी की कमी के कारण और सही समय पर फसल की सिंचाई न होने के कारण किसानों की फसलें बर्बाद होती है, जिसके कारण किसानों को आर्थिक रूप से भारी नुकसान पहुंचाता है। देश के किसानों की आर्थिक स्थिति सुधारने और उन्हें निरंतर खेती करने के हेतु प्रोत्साहित करने के लिए झारखंड राज्य सरकार द्वारा कई योजनाएं और अभियान चलाए जा रहे है हालांकि में झारखंड सरकार ने राज्य के किसानों हेतु Jharkhand Vaikalpik Kheti Yojana की नीव रखी है।

इस योजना के माध्यम से राज्य सरकार किसानों को खरीफ फसलों की फसलों जैसे- धान की सीधी बुआई, मूंग, अरहर, मक्का, ऊपरी जमीन पर उड़द, कुलथी, तोरिया, ज्वार, मडुआ की खेती करने के लिए प्रोत्साहित करेगी. साथ ही किसानों को छोटी अवधि सूखा प्रतिरोधी नस्ल के बीज अनुदान पर प्रदान करेगी ताकि राज्य के किसानों को बारिश की कमी के कारण खरीफ फसलों की खेती करने वाले किसानों को कोई भी परेशानी न उठानी पड़े।

आज हम आप सभी के लिए इस पोस्ट में झारखंड वैकल्पिक खेती योजना 2024 क्या है? | Jharkhand Vaikalpik Kheti Yojana Kya Hai in Hindi से जुड़ी सभी महत्वपूर्ण जानकारी उपलब्ध कराने वाले है इसलिए झारखंड में निवास करने वाले जो भी किसान झारखंड वैकल्पिक खेती योजना 2024 से संबंधित जानकारी जैसे- Jharkhand alternative farming scheme के लाभ, उद्देश्य, पात्रता, दस्तावेज, आवेदन प्रक्रिया इत्यादि के बारे में जानना चाहते है वह अंत तक इस लेख को पूरा लास्ट तक आवश्य पढ़े।

Contents show

झारखंड वैकल्पिक खेती योजना 2024 क्या है? | Jharkhand Vaikalpik Kheti Yojana Kya Hai in Hindi

झारखंड राज्य में कई ऐसे किसान है जिनकी खरीफ की फसलें पानी की कमी के कारण नष्ट हो जाती है। इस समस्या के समाधान के लिए झारखंड राज्य सरकार के कृषि विभाग के द्वारा Jharkhand Vaikalpik Kheti Yojana 2024 को शुरू किया गया है। इस योजना के अंतर्गत राज्य के किसानों को सरकार 50% के अनुदान पर छोटी अवधि सूखा प्रतिरोधी नस्ल के बीज अनुदान पर दिया जाएगा।

झारखंड वैकल्पिक खेती योजना 2024 क्या है लाभ, पात्रता, उद्देश्य व अप्लाई प्रक्रिया Jharkhand Vaikalpik Kheti Yojana Kya Hai in Hindi

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि झारखंड वैकल्पिक खेती योजना 2024 के अंतर्गत मिलने वाले बीज कम पानी में भी उगने की की क्षमता रखते है। जिससे सूखे के कारण किसानों को होने वाला नुकसान की भरपाई की जा सके। झारखंड प्रशासन के द्वारा इस योजना के अंतर्गत राज्य के 5 लाख किसानों को लाभ प्रदान किया जाएगा। Jharkhand Vaikalpik Kheti Yojana का लाभ सभी किसानों तक पहुंचने के लिए लिए पंजीकरण करना होगा।

यदि आप झारखंड वैकल्पिक खेती योजना 2024 की आवेदन प्रक्रिया के बारे में नहीं जानते है। तो आप इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़िए क्योंकि हमने नीचे आप सभी के साथ Jharkhand alternative farming scheme 2024 से संबंधी सभी जरूरी जानकारी प्रदान की है तो चलिए बिना देरी किए झारखंड कृषि विभाग के द्वारा आयोजित झारखंड वैकल्पिक खेती योजना के बारे में जानते है।

योजना का नाम वैकल्पिक खेती योजना
राज्य झारखण्ड
साल 2024
किसने शुरू की झारखंड सरकार एवं कृषि विभाग द्वारा
लाभार्थी राज्य के किसान
उद्देश्य दलहन, तिलहन एवं सब्जियों की खेती करने के लिए प्रोत्साहित करना
वेबसाइट

5 लाख किसानों को मिलेगा वैकल्पिक खेती योजना का लाभ

आप सभी यह बात जानते है कि झारखंड राज्य में कुछ ऐसे क्षेत्र है, जहां उचित मात्रा वर्षा नहीं होती है जिसके कारण किसानों की फसलों को उचित पानी नहीं मिल पाता है, परिणामस्वरूप किसानों की फसलें नष्ट हो जाती है। ऐसे किसानों को पुनः खेती करने और अपना परिवार चलने के लिए कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। किसानों की इसी समस्या के समाधान हेतु झारखंड राज्य सरकार ने वैकल्पिक खेती योजना, झारखंड को शुरू किया है।

जिसके माध्यम से राज्य के 5 लाख से भी ज्यादा किसानों को सरकार छोटी अवधि सूखा प्रतिरोधी नस्ल के बीजों को अनुदान पर प्रदान करेंगी। ताकि सूखे की वजह से किसानों के होने वाले नुकसान की भरपाई हो सके और राज्य के किसान निरंतर खेती करने के लिए प्रोत्साहित हो। Jharkhand alternative farming scheme 2024 के अंतर्गत किसानों को 50% अनुदान पर सूखा प्रतिरोधी नस्ल के बीजों को उपलब्ध कराया जाएगा।

झारखंड वैकल्पिक खेती योजना का उद्देश्य | Objective of Jharkhand Alternative Farming Scheme

झारखंड राज्य सरकार के द्वारा Jharkhand Vaikalpik Kheti Yojana को शुरू करने के मुख्य उद्देश्य राज्य के किसानों को वैकल्पिक खेती जैसे- मूंग, अरहर, मक्का, ऊपरी जमीन पर उड़द, कुलथी, तोरिया, ज्वार, मडुआ की खेती करने के लिए प्रोत्साहित करना है। अपने इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए राज्य सरकार किसानों को उच्च गुणवक्ता वाले सुखा प्रतिरोधी नस्ल के बीज उपलब्ध कराएगी.

ताकि राज्य में सूखा पड़ने की स्थित में भी राज्य के किसानों को निरंतर खेती करने के लिए प्रोत्साहित किया जा सके। Jharkhand alternative farming scheme का लाभ अधिक से अधिक किसानों तक पहुंचने के लिए सरकार राज्य में जगह-जगह FPO का निर्माण कर रही है। इन FPO के द्वारा राज्य के किसानों को अनुदान पर सूखा प्रभावित बीज प्रदान किए जाएंगे।

झारखंड वैकल्पिक खेती योजना के लाभ | Benefits of Jharkhand Alternative Farming Scheme

इस योजना के अंतर्गत झारखंड राज्य सरकार के द्वारा राज्य में वैकल्पिक खेती करने वाले किसानों को कई लाभ प्राप्त होंगे, जिसके बारे में जानने के लिए आप नीचे बताए जाने वाले सभी बिंदुओं को ध्यानपूर्वक पढ़िए, जो कुछ इस प्रकार से है-

  • झारखंड वैकल्पिक खेती योजना के अंतर्गत राज्य के किसानों के लिए शुरू किया गया है।
  • इस योजना के माध्यम से सरकार किसानों को वैकल्पिक खेती करने के लिए प्रोत्साहित करेंगी।
  • किसानों को खेती के प्रति जागरूक करने के लिए सरकार द्वारा किसानों को  साथ उरद, मक्का, तोरिया, मूंग, ज्वार और मडुआ के छोटी अवधि सूखा प्रतिरोधी नस्ल के बीज की खरीद पर अनुदान प्रदान कर रही है।
  • Jharkhand alternative farming scheme के अंतर्गत मिलने वाले बीज कम वर्ष में भी उगने में सक्षम होंगे।
  • इस योजना के माध्यम से सभी लाभार्थीकिसानों को PU-31 बीज 50% अनुदान दर पर यानी ₹64 प्रति किलो के मूल्य पर उपलब्ध करवाए जायेंगे।
  • जिससे की राज्य के किसान पानी की कमी होने पर भी अच्छी पैदावार कर पाएंगे और उनकी आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।

झारखंड वैकल्पिक खेती योजना हेतु पात्रता मापदंड | Eligibility Criteria For Jharkhand Alternative Farming Scheme

झारखंड राज्य में निवास करने वाले जो भी इच्छुक के साथ इस योजना के अंतर्गत आवेदन करके लाभ प्राप्त करना चाहते हैं तो पहले उन्हें सरकार के द्वारा निर्धारित की गई कई योग्यताओं को पूरा करना होगा. जिनका पूरा विवरण हमने सूचीबद्ध रूप में नीचे प्रदान किया है, जैसे-

  • झारखंड वैकल्पिक खेती योजना के अंतर्गत आवेदन करने वाला आवेदक स्थाई रूप से झारखंड राज्य का निवासी होना चाहिए।
  • इस योजना के अंतर्गत केवल वही किसान पात्र होंगे जो वैकल्पिक खेती कर रहे हैं।
  • झारखंड सरकार के द्वारा किसानों के हितों के लिए शुरू की गई इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने वाले किसान के पास खेती योग्य भूमि होना जरूरी है।
  • वैकल्पिक खेती योजना के के अंतर्गत उन्हीं क्षेत्रों के 500000 किसानों को लाभ प्राप्त होगा जो सूखा प्रभावित क्षेत्र में आते हैं।

झारखंड वैकल्पिक खेती योजना 2024 के लिए जरूरी दस्तावेज | Documents required for Jharkhand Alternative Farming Scheme 2024

यदि आप झारखंड वैकल्पिक खेती योजना 2024 के अंतर्गत आवेदन करके सूखा प्रतिरोधी नस्ल के बीज सब्सिडी पर प्राप्त करना चाहते हैं तो हम आपको बता दें कि इस योजना के अंतर्गत पंजीकरण करने हेतु आपको कुछ जरूरी दस्तावेजों की आवश्यकता होगी। इस योजना के लिए सभी जरूरी दस्तावेजों की लिस्ट कुछ इस प्रकार से नीचे दी गई है-

  • किसान का आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • वोटर आईडी कार्ड
  • बैंक अकाउंट नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ
  • चालू मोबाइल नंबर इत्यादि।

झारखंड वैकल्पिक खेती योजना के लिए आवेदन कैसे करें? | How to apply for Jharkhand Alternative Farming Scheme?

झारखंड राज्य सरकार के द्वारा वैकल्पिक खेती योजना 2024 के लिए किसी भी प्रकार की ऑनलाइन या ऑफलाइन प्रक्रिया निर्धारित नहीं की गई है बल्कि राज्य के किसानों को इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए किसानों को तोरपा महिला कृषि बागवानी स्वालम्बी सहकारी समिति लिमिटेड सदस्य की FPO के अंतर्गत अपना पंजीकरण करना होगा। एफपीओ के सीईओ प्रियरंजन के पास पंजीकरण करने के बाद ही आप झारखंड वैकल्पिक खेती योजना के अंतर्गत सूखा प्रतिरोधी नस्ल के बीच सब्सिडी पर प्राप्त कर सकेंगे।

Jharkhand Vaikalpik Kheti Yojana Related FAQs

झारखंड वैकल्पिक खेती योजना क्या है?

झारखंड वैकल्पिक योजना झारखंड कृषि विभाग के द्वारा किसानों की आर्थिक स्थिति सुधारने और उन्हें निरंतर खेती करने हेतु प्रोत्साहित करने के लिए शुरू की गई एक कल्याणकारी योजना है।

झारखंड वैकल्पिक खेती योजना का लाभ किसे मिलेगा?

इस योजना का लाभ झारखंड राज्य में सूखा प्रभावित क्षेत्रों में निवास करने वाले 500000 से भी अधिक किसानों को मिलेगा।

झारखंड वैकल्पिक खेती योजना का क्या लाभ है?

इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने वाले किसानों को सरकार सूखा प्रतिरोधी नस्ल के बीज सब्सिडी पर उपलब्ध कराएगी।

इस योजना के अंतर्गत मिलने वाले बीज कितने रुपए प्रति किलो की दर से प्रदान किए जाएंगे?

झारखंड वैकल्पिक खेती योजना के अंतर्गत मिलने वाले सूखा प्रतिरोधी नस्ल के बीजों को सरकार ₹64 प्रति किलो की दर से उपलब्ध कराएगी।

झारखंड वैकल्पिक खेती योजना का लाभ कैसे मिलेगा?

इस योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए आप को तोरपा महिला कृषि बागवानी स्वालम्बी सहकारी समिति लिमिटेड सदस्य की FPO के अंतर्गत अपना पंजीकरण करना होगा।

इस योजना को शुरू करने का उद्देश्य क्या है?

वैकल्पिक खेती योजना झारखंड को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य झारखंड के किसानों को सूखे की स्थिति में भी निरंतर खेती करने के लिए प्रोत्साहित करना है।

निष्कर्ष

आज हमने अपनी वेबसाइट के इस लेख के द्वारा आप सभी के साथ झारखंड कृषि विभाग के द्वारा शुरू की गई झारखंड वैकल्पिक खेती योजना 2024 क्या है? के संबंध में पूरी जानकारी विस्तार से प्रदान की है। हम आशा करते हैं कि आपको हमारी वेबसाइट के इस लेख में बताई गई जानकारी पसंद और समझ आई होगी यदि अभी भी आपके मन में झारखंड वैकल्पिक खेती योजना से संबंधित कोई प्रश्न है तो आप अपने प्रश्न नीचे कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हो।

Leave a Comment