कर्ज न चुकाने की सजा क्या है?

|| कर्ज न चुकाने की सजा क्या है? | कर्ज न चुकाने पर कौन-कौन सी सजा हो सकती है? | karj n chukane ki kya saja hogi | जब आप कोई भी ईएमआई समय पर नहीं देते हैं तो क्या होता है? | जब लोन वाले कोई भी व्यक्ति आपको परेशान करें तो आपको क्या करना चाहिए ? ||

आज के समय में देखा गया है कि लोग बिना कुछ सोचे समझे बिना किसी कार्य के लोन ले लेते हैं जिसके उन्हें बहुत से घटे देने पड़ते हैं। यदि भी लोग ऐसा पहले ऐसा सोचे तो भी सब इन चीजों से बच सकते हैं लेकिन जब आप बिना कुछ कुछ सोचे समझे ही लोन ले लेते हैं तो आपको अधिक ब्याज देना पड़ता है जिससे कि आपको वह लोन चुकाना मुश्किल हो जाता है।

क्या ऐसा करना सही है जी बिल्कुल सही नहीं है क्योंकि हमें हमेशा जांच पड़ताल करके ही लोन लेना चाहिए क्योंकि जब भी कोई लोन लेता है तो किसी ना किसी मजबूरी की वजह से लेता है और यदि वह उन परिस्थितियों से भी महंगा पड़ जाए। तो भविष्य में आपको लोन लेने में दिक्कत हो सकती है।

क्योंकि यदि आप लोगों नहीं चुका पाते हैं तो आपका क्रेडिट स्कोर खराब हो जाता है जिससे आपको भविष्य में जरूरत पड़ने पर कोई भी बैंक या प्राइवेट वित्तीय संस्था आपको लोन देने से इंकार कर देगी साथ ही साथ यदि आप लोन नहीं चुकाते हैं तो आप पर कानूनी कार्रवाई भी हो सकती है। भारतीय दंड संहिता में इसके लिए भी कानून बनाए गए हैं यदि आप कर्ज न चुकाने की सजा से भेजना चाहते हैं और आप ऋण चुकाने के तरीकों (karj n chukane ki kya saja hogi ) के बारे में जानना चाहते हैं तो हमारे इस आर्टिकल को अंत तक पड़े क्योंकि हमने अपनी इस आर्टिकल में आपको सभी नियमों और दंड प्रावधानों के बारे में विस्तार पूर्वक बताया हैl

Contents show

कर्ज न चुकाने पर कौन-कौन सी सजा हो सकती है?

तो आइए आज हम आपको बताएंगे कि यदि आप लोन चुकाने में असमर्थ हैं तो आप पर कौन-कौन सी कानूनी कार्रवाई की जा सकती हैl

लोन देने वाला बैंक या संस्था द्वारा  कानूनी कार्रवाई

जब आप किसी लोन को देने में असमर्थ हो सकते हैं तो कोई भी बैंक या प्राइवेट संस्था जहां से आपने लोन लिया है वह आप पर पुलिस कार्रवाई करवा सकती है जिसके बाद आपके लोन का फैसला कोर्ट करेगा और वह सर्वमान्य होगा कोर्ट जो भी आपको सजा देगा या फिर जो भी भुगतान करने के लिए कहेगा या आपके पास जो भी जमीन घर मकान आदि है उसे बेचकर लोन दाता केलोन को चुकता कर देगाl

कर्ज न चुकाने की सजा क्या है

चेक का बाउंस होने की स्थिति में

आपको यह सुनने में बहुत ही अजीब लग रहा होगा की चेक बाउंस होने पर भी कोई सजा हो सकती है जी हां बिल्कुल हो सकती है। भारतीय कानून अधिनियम की धारा 138 के तहत आपका चेक बाउंस होना भी कानूनी जुर्म है। यदि किसी भी स्थिति में आपका चेक बाउंस हो जाता है तो इसके लिए आपको कम से कम 2 साल की सजा या जुर्माना या फिर दोनों भी हो सकते हैl

RBI की गाइड लाइन के अनुसार

भारतीय रिजर्व बैंक के द्वारा 2014 में जारी की गई एक गाइडलाइन में कहा गया था कि यदि कोई भी व्यक्ति कर्ज चुकाने योग्य है और वह जानबूझकर कर्ज नहीं चुका रहा है या टालमटोल कर रहा है तो उसे अधिनियम की धारा 403 और 415 के तहत कर्ज चुकाने की कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए। लेकिन आरबीआई की गाइडलाइन के अनुसार यह सजा तभी दी जा सकती है जब लेता है ₹500000 या उससे अधिक का लोन लिया हो।

प्रतिष्ठा को ठेस पहुंचाने जाने की सजा

आज के समय में करदाता लोग अपने लोन की वसूली को करने के लिए एजेंटों को हायर करते हैं जो लोग यदि आपको बार-बार परेशान करेंगे घर आएंगे तो आपकी प्रतिष्ठा को बहुत बड़ी ठेस पहुंचेगी आपके मोहल्ले को समाज के लोग आपको बार-बार गरीब होते हुए देखेंगे जो आपके लिए एक बहुत ही तनावपूर्ण बात है क्योंकि इससे आदमी बहुत गहरे सदमे में चला जाता है और बेवजह ही इस प्रकार से पहलवान चुगाई इस बात से परेशान रहता हैl

किसी अदालत द्वारा जारी किया गया आदेश

यदि आपने किसी बैंक या किसी वित्तीय संस्था से लोन लिया है और वह बैंक और संस्था आपके विरुद्ध कोई कानूनी कार्यवाही कर दें तो इस स्थिति में यह कानूनी कार्रवाई का आदेश किसी अदालत के द्वारा जारी किया जाएगा जिसके बाद अदालत के द्वारा जैसा आदेश मिल जाने पर उस व्यक्ति को या तो पूरी राशि का भुगतान करना पड़ेगा या उसकी सभी संपत्ति को जप्त कर लिया जाएगा या अदालत द्वारा जारी किया गया दंड भी भुगतना ना पड़ सकता हैl

ब्याज के साथ अतिरिक्त दंड शुल्क चुकाना

जब आप कोई भी loan लेते हैं और उसे समय पर पर पाते हैं तो उसके साथ आपको ब्याज देना पड़ता है लेकिन यदि आप उसे समय पर नहीं चुका पाते हैं। तो आपको ब्याज के अतिरिक्त भी कुछ पेनल्टी शुल्क देना पड़ता है जिस वजह से आपको बाद में और अतिरिक्त ब्याज के साथ लोन चुकाना पड़ता है जो कि आप पर एक अतिरिक्त भार की तरह होता है।

क्रेडिट स्कोर का कम होना

जब आप किसी भी बैंक से लोन लेने जाते हैं तो कोई भी बैंक आपका सबसे पहले क्रेडिट स्कोर चेक करता है यदि आपका क्रेडिट स्कोर कम होता है तो कोई भी बैंक आपको क्या लोन देने से मना कर देता है। क्योंकि यह बैंक को नकारात्मक रूप से प्रभावित करता है। जिससे भविष्य में आपको कोई भी लोन लेने में दिक्कत होती है जो कि आपको एक प्रकार की सजा ही हैl

कर्ज ना चुका पाने की स्थिति के कुछ मामले

आइए अब हम आपको कुछ फेमस मामलों के बारे में बताते हैं जिनके द्वारा लिया गया कर्ज न चुका पाने की स्थिति में उन्हें कौन-कौन से परिणाम भुगतने पड़े है:

मामला नंबर 1

तो यह मामला कुछ इस प्रकार है कि एक गांव का रहने वाला व्यक्ति था, जिसका नाम सोमपाल था ,जिसने किसी एक प्राइवेट बैंक Axis bank से लोन लिया था लेकिन वह समय पर लोन नहीं चला पाया जिसकी वजह से उसे जेल की सजा हो गई थी।

इस मामले में यह व्यक्ति अपनी लगभग 7 एकड़ जमीन को बैंक के पास गिरवी रख देता है और उसके बदले में बैंक ना कूदकर उसे लगभग 14 लाख रुपए तक का लोन दे देती है जिसके बाद वह व्यक्ति लगातार कभी बारिश की वजह से कभी कोई प्राकृतिक आपदा की वजह से फसल खराब होती रहती है।

जिससे उस पर ब्याज पर ब्याज बढ़ता चला जा रहा थाl जिससे उस पर 14 लाख रुपए का लोन था और और ब्याज को मिलाकर ₹10 लाख और बढ़ गया अर्थात ₹24 लाख हो गया जिस वजह से बैंक ने उस व्यक्ति पर केस कर दिया और उसे कोर्ट की ओर से लगभग 2 साल की सजा हुईl यह एक सत्य घटना है जिसे हमने https://www.jagran.com से लिया हैl

मामला नंबर 2

तो अब हम आपको इसी प्रकार के दूसरे मामले के बारे में बता रहे हैं जिसमें एक बैंक के एडवोकेट मिस्टर अर्जुन भारद्वाज ने बताया है कि एयू स्मॉल फाइनेंस बैंक से एक व्यक्ति विष्णु शर्मा ने लोन कराया था जिसमें उन्होंने अपने एक संबंधी रघुवीर शर्मा की जमानत दिलवाई थी लेकिन किसी भी कारणवश विष्णु शर्मा इस लोन का भुगतान करने में असमर्थ रहे फाइनेंस बैंक ने उन्हें लगातार कई बार सूचित भी किया।

लेकिन उन्होंने इस बात को अनदेखी कर दी और इस वजह से उन पर ब्याज पर ब्याज बढ़ता चला गया फिर इस मामले में फाइनेंस कंपनी ने लोन लेने वाले व्यक्ति विष्णु शर्मा पर केस कर दियाl जिसके बाद कोर्ट ने विष्णु शर्मा और उनकी जमानत देने वाले व्यक्ति रघुवीर शर्मा के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दियाl जब कोर्ट ने इन व्यक्तियों से लोन चुकाने के बारे में कहा तो उन्होंने मना कर दिया जिस वजह से इन दोनों व्यक्तियों को जेल के कारावास की सजा भी सुनाई गईl यह सूचना हमने आपको https://www.bhaskar.com से बताइए जो कि एकदम सत्य घटना से प्रेरित है।

मामला नंबर 3

तो इस स्थिति में आगे चलते हुए हम आपको अब तीसरे मामले के बारे में बताने जा रहे हैं आप सब लोगों ने श्रीराम फाइनेंस कंपनी का नाम तो सुना ही होगा कंपनी के एक जगह के ब्रांच मैनेजर ने बताया की एक महिला ने अपना वाहन खरीदने के लिए फाइनेंस कराया था लेकिन महिला कर चुकाने में असमर्थ ई इसके बाद भी उसने बहुत कोशिश की और धीरे-धीरे बहुत सी किस्तों का भुगतान कर दिया और जब उसके पास पैसा खत्म हो गया तो उसने थोड़ी चला कि देकर अपना चेक दे दिया ।

लेकिन उस महिला के अकाउंट में तो पैसे ही नहीं थे जिस वजह से चेक बाउंस हो गया बैंक ने उसे कई बार सूचित किया लेकिन महिला ग्राहक की ओर से कोई भी ठोस कदम नहीं उठाया गया जिसकी वजह से कंपनी ने इस मामले को लेकर पुलिस विभाग में शिकायत दर्ज करा दी तो जब यह केस कोर्ट में पहुंचा तब महिला की चेक की रकम ₹200000 जुर्माना और 3 साल कारावास कैद की सजा सुनाई गई थी।

तो इसीलिए हम आपको बताना चाहते हैं कि ऐसे बहुत से मामले हैं लेकिन हम आपको सभी मामलों के बारे में विस्तार पूर्वक नहीं बता सकते हैं इसीलिए हम आपको बताना चाहेंगे कि बहुत ही सोच समझकर और बहुत ही सुविधाजनक लोन ले जिसकी ब्याज दर कम हो और साथ ही साथ अधिक लंबे समय तक ना चले और जिसे आप चुकाने में समर्थ हो सके और आपका कार्य भी सही ढंग से हो सके।

FAQ

यदि कोई भी व्यक्ति पर्सनल लोन चुकाने में असमर्थ हूं तो उसे क्या करना चाहिए?

यदि कोई भी व्यक्ति अपना पर्सनल लोन चुकाने में असमर्थ हो तो वह व्यक्ति अपने दिवाली और कल के लिए हाई कर सकता है हालांकि इसके परिणाम तो थोड़े गंभीर होंगे क्योंकि इसके बाद आपके क्रेडिट स्कोर पर अच्छा प्रभाव पड़ेगा जिससे आपके लिए भविष्य में लोन लेना असंभव हो जाएगा और साथ ही साथ आप बैंक के खाते भी नहीं खुलवा पाएंगे।

जब आप कोई भी ईएमआई समय पर नहीं देते हैं तो क्या होता है?

जब आप कोई भी ईएमआई समय पर झुकता नहीं करते हैं तो आपको ब्याज के साथ-साथ भी अतिरिक्त पेनल्टी शुल्क देना पड़ता है और इसके साथ साथ आपके क्रेडिट स्कोर पर भी असर पड़ता है जिससे भविष्य में आपको लोन लेते समय थोड़ी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

जब आप कोई लोन नहीं चुका पाते हैं तो क्या होता है?

जब आप लगातार तीन महीनों तक कोई भी एमआई पर नहीं करते हैं तो बैंक आपको भेजने के लिए एक नोटिस जारी करता है और आग्रह करता है कि आप जल्द से जल्द अपने लोन का भुगतान कर दें यदि उसके बाद भी आप कोई ठोस कदम नहीं उठाते हैं तो आपको गैर निष्पादित परिसंपत्ति अर्थात एनपीए घोषित कर दिया जाता है साथ ही साथ आपकी गिरवी रखी हुई सभी संपत्ति को जप्त कर लिया जाता है और भविष्य में आपको लोन ना दिए जाने की हिदायत दी जाती है।

लोन कब माफ होता है?

यदि आपने कोई किसान किसान लोन लिया है तो सरकार चाहे तो आप का लोन माफ कर सकती है। वैसे मैं आपको बताना चाहूंगा कि क्रेडिट कार्ड या पर्सनल लोन कभी भी माफ नहीं किए जा सकते हैं।

जब लोन वाले कोई भी व्यक्ति आपको परेशान करें तो आपको क्या करना चाहिए ?

जब कोई भी लोन एजेंट आपको परेशान करने आते हैं तो आपको सर्वप्रथम अपने अधिकारों के बारे में जानना चाहिए जिसके बाद ही आप कुछ समय की मोहलत पा सकते हैं और आपके लिए लोन की ईएमआई चुकाना के लिए थोड़ा समय मिल सकता है।

निष्कर्ष

इस प्रकार अंत में  हम आपको बताना चाहेंगे कि हमने आपको बताया कि आप यदि लोन नहीं चुका पाते हैं तो आप पर कौन-कौन सी कार्रवाई हो सकती है? साथ ही साथ भविष्य में आपको कैसे लोन लेने से वंचित कर दिया जा सकता है? और लोन लेते समय आपको कौन-कौन सी बातों को ध्यान में रखना है? ,इस बारे में संपूर्ण एवं विस्तृत जानकारी हमने आपको प्रदान की है हम उम्मीद करते हैं कि हमारे जानकारी जरूरतमंद लोगों की जिज्ञासाओं को पूर्ण करती हो अपना फीडबैक हमें कमेंट बॉक्स में लिखकर जरूर शेयर करें साथ ही साथ हमारे इस आर्टिकल को जरूरतमंद लोगों को तक पहुंचाएंl धन्यवाद!

Leave a Comment