राइट टू हेल्थ बिल क्या है? | राइट टू हेल्थ बिल के क्या लाभ है? | Right To Health Bill Kya Hai in Hindi

|| राइट टू हेल्थ बिल क्या है? | Right To Health Bill Kya Hai in Hindi | राइट टू हेल्थ बिल के लाभ | Benefits of Right to Health Bill | राइट टू हेल्थ बिल शुरू होने से आम जनता को क्या फायदे होंगे? | राइट टू हेल्थ बिल के क्या लाभ है? ||

जैसा कि आप सभी जानते है आज की इस भागदौड़ भरी जिंदगी और खराब खानपान की वजह से कई तरह की गंभीर बीमारियां तेजी से फैल रही है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए तथा आम नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य संबंधी सुविधा उपलब्ध कराने के लिए सितंबर 2022 में विधानसभा में Rajasthan Right To Health Bill को पेश किया है जिससे राजस्थान राज्य में निवास करने वाले सभी आम नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्राप्त हो।

आपकी जानकारी के लिए हम बता दें कि जब राजस्थान सरकार के द्वारा राइट टू हेल्थ बिल को पेश किया गया था तो इस प्रावधान को लेकर विपक्ष पार्टी में विरोध किया था जिसकी वजह से यह भी आगे नहीं बढ़ पाया था लेकिन मंगलवार को राजस्थान सरकार के द्वारा पारित कर दिया गया है। अगर आप राजस्थान राज्य में निवास करते हैं और आपको राजस्थान राइट टू हेल्प बिल राजस्थान क्या है? (Right To Health Bill Kya Hai in Hindi) इस बिल का विरोध क्यों हो रहा था?

Right To Health Bill के क्या फायदे हैं? के बारे में जानकारी नहीं है तो आपके लिए हमारा यह आर्टिकल काफी उपयोगी साबित होने वाला है क्योंकि आज हम आपके साथ इस पोस्ट के माध्यम से Right To Health Bill से जुड़ी सभी जानकारी विस्तारपूर्वक प्रदान करने जा रहे है इसलिए आप अंत तक इस आर्टिकल को पूरा अवश्य पढ़ें।

Contents show

राइट टू हेल्थ बिल क्या है? | Right To Health Bill Kya Hai in Hindi

आम नागरिकों को स्वास्थ्य का कानूनी अधिकार प्रदान करने के लिए राजस्थान प्रशासन के द्वारा Right To Health Bill 2024 की शुरुआत की गई है। जिसके द्वारा राज्य की आम जनता को किसी भी सार्वजनिक स्वास्थ्य संस्थान, स्वास्थ्य देखभाल प्रतिष्ठा और नामित स्वास्थ्य देखभाल केंद्रों पर किसी भी तरह के आपातकालीन उपचार और देखभाल की सुविधा बिना किसी भुगतान के प्राप्त होंगी, यानी कि अब अगर आम नागरिकों के पास पैसे नहीं है तो भी वह अस्पतालों में उपचार प्राप्त कर सकते है।

राइट टू हेल्थ बिल क्या है राइट टू हेल्थ बिल के क्या लाभ है Right To Health Bill Kya Hai in Hindi

इसके अतिरिक्त अगर आपातकाल की स्थिति में इलाज का खर्च मरीज नही दे पता है तो इलाज का सारा खर्च राजस्थान प्रशासन के द्वारा वहन कराया जाएगा। इसके साथ ही इस बिल के अंतर्गत यदि किसी दुर्घटना से घायल मरीज को कोई व्यक्ति अस्पताल पहुंचाता है तो उस व्यक्ति को राज्य सरकार के द्वारा ₹5000 प्रोत्साहन राशि भी प्रदान की जाएगी। वैसे तो राजस्थान सरकार के द्वारा राइट टू हेल्थ बिल्कुल सितंबर 2022 में विधानसभा में पेश किया गया था.

लेकिन किन्ही कारणों बस विपक्ष पार्टी के द्वारा इस बिल का विरोध होने की वजह से 21 अप्रैल 2024 को राइट टू हेल्थ बिल को पास किया गया है। Right To Health Bill 2024 से संबंधित और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए अंततः इस लेख को पूरा पढ़िए।

Rajasthan Right To Health Bill को लेकर विरोध क्यों हो रहा था?

आम जनता को स्वस्थ संबंध बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए राजस्थान सरकार के द्वारा राइट टू हेल्थ बिल को पेश किया गया था जिसे लेकर राजस्थान के निजी अस्पतालों के द्वारा इसका विरोध किया गया था क्योंकि राजस्थान प्रशासन के द्वारा इस बिल के पारित होने के बाद सभी प्राइवेट सेक्टर के अस्पताल इमरजेंसी में इलाज करने के लिए बाध्य हो जाएंगे.

साथ ही साथ नया कानून आने के बाद आपातकालीन में निजी अस्पताल में भर्ती मरीज से पेमेंट करने के लिए भी नहीं कहा जा सकता है। यही कारण है कि Rajasthan Right To Health Bill के खिलाफ विरोध करने के लिए 20 मार्च को सभी निजी अस्पतालों के डॉक्टर सड़क पर उतर आए थे। जिसकी वजह से स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने निजी अस्पतालों के डॉक्टरों के साथ बातचीत करने के दौरान इस बिल में बदलाव करने के सुझाव दिए है।

लेकिन सरकार के द्वारा आखिरकार 31 अप्रैल 2024 को आम नागरिक को तक बेहतर स्वास्थ संबंधित सुविधाएं पहुंचाने के लिए Rajasthan Right To Health Bill को पास कर दिया गया है जिसके बाद अब नागरिकों को आपातकालीन स्थिति में बेहतर स्वास्थ संबंधित सुविधाएं एवं देखभाल मिल सकेगी।

Rajasthan Right To Health Bill का उल्लंघन करने वाले पर लगेगा ₹25000 का जुर्माना

राजस्थान सरकार के द्वारा राइट टू हेल्थ बिल के उल्लंघन करने वाले डॉक्टरों के लिए कुछ प्रावधान और नियम निर्धारित किए है। इन नियमों के अनुसार यदि कोई डॉक्टर राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा चलाए जा रहे राइट टू हेल्थ बिल का उल्लंघन करता है तो ऐसे में होने ₹25000 तक का जुर्माना देना पड़ेगा। हालांकि अगर कोई डॉक्टर पहली बार Right To Health Bill का उल्लंघन करता है तो सरकार के द्वारा उसे ₹10000 तक का जुर्माना लिया जाएगा लेकिन इसके बाद भी यदि वह किसी नियम का उल्लंघन करता हुआ पाया गया तो उसे ₹25000 का जुर्माना भरना होगा।

राइट टू हेल्थ बिल के लाभ | Benefits of Right to Health Bill

राजस्थान सरकार के द्वारा शुरू किए गए इस प्रावधानों के अंतर्गत राजस्थान राज्य में निवास करने वाली आम जनता को लाभ प्राप्त होंगे। अगर आप Right To Health Bill के अंतर्गत आम जनता को मिलने वाले लाभ के बारे में जानना चाहते हैं तो इसकी जानकारी हमें सूचीबद्ध रूप में उपलब्ध कराई है –

  • Right To Health Bill को अंतर्गत सरकार के द्वारा बैक्टीरिया, जहरीले पदार्थ, केमिकल अटैक, वायरस, परमाणु हमला, दुर्घटना, आबादी की बड़ी तादाद में मौत, गैसों का फैलना और जोखिम दुर्घटनाएं आदि को शामिल किया गया है ताकि राज्य में होने वाले नुकसान की भरपाई की जा सके।
  • राजस्थान प्रशासन के द्वारा आम जनता को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिए राइट टू हेल्थ के अंतर्गत राज्य के लोगों को इलाज, इमरजेंसी मेडिकल ट्रीटमेंट, जांच, उपचार, नर्सिंग, डायग्नोसिस, और प्रोसीजर्स को सम्मिलित किया गया है।
  • इस बिल के पास होने से राज्य की आम जनता आपातकालीन स्थिति में सरकारी अस्पतालों के साथ-साथ निजी अस्पतालों से भी निशुल्क इलाज प्राप्त कर सकेंगे।
  • राजस्थान सरकार ने राइट टू हेल्थ बिल में गवर्नमेंट और प्राइवेट इंस्टिट्यूट, फैसिलिटी आदि को भी शामिल किया है।
  • इतना ही नहीं इंडोर आउटडोर यूनिट, सरकारी प्राइवेट स्वामी से संचालित किए जा रहे संस्थान, फेंडेंट और कंट्रोल्ड इंस्टीट्यूट के द्वारा भी जनता को इलाज प्राप्त होगा।
  • Right To Health Bill के अंतर्गत अब राजस्थान के हर राज्य के नागरिकों को बीमारी की जांच, इलाज, इलाज के खर्च के बारे में अच्छी तरह और आसानी से सभी जरूरी जानकारी मिल सकेगी।
  • इसके साथ ही सरकार आम जनता को दवाइयां इमरजेंसी, ट्रांसपोर्टेशन, आपातकालीन ट्रीटमेंट इत्यादि भी निशुल्क उपलब्ध कराएगी।
  • इस बिल के पास होने से राजस्थान राज्य की जनता को Advance payment के बिना इमरजेंसी के दौरान सभी अस्पतालों में स्वास्थ्य सेवाएं प्राप्त होंगी।
  • इसके अलावा सूचना देने पर किसी भी तरह की सर्जरी के दौरान मरीज का पूरा ख्याल उसकी प्राइवेसी का ध्यान रखते हुए किया जाएगा।
  • इस प्रावधान के अंतर्गत रोड एक्सीडेंट के अंतर्गत दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति को फ्री ट्रांसपोर्टेशन और ट्रीटमेंट के साथ-साथ इंश्योरेंस भी प्राप्त होगा।
  • इसके अलावा दुर्घटना में घायल व्यक्ति को अस्पताल पहुंचाने वाले नागरिक को राजस्थान सरकार के द्वारा ₹5000 की प्रोत्साहन राशि भी प्रदान की जाएगी।
  • राजस्थान राइट टो हेल्थ बिल के पेश होने से अब अस्पतालों में पीड़ित व्यक्ति को सुरक्षित हाइजेनिक खाना, पीने के लिए साफ पानी इत्यादि की व्यवस्था कराई जाएगी।
  • इसके अलावा सरकार के द्वारा ऑनलाइन पोर्टल भी जारी किया गया है जिसके द्वारा कोई भी व्यक्ति अपनी शिकायत संबंधित अधिकारी को भी हो सकता है।
  • राजस्थान सरकार के द्वारा शिकायत प्राप्त होने पर 24 घंटे के अंदर उसका जवाब दिया जाएगा और 30 जनों के अंदर सरकार के द्वारा उचित कार्यवाही भी की जाएगी।

Right To Health Bill Related FAQs

राइट टू हेल्थ बिल क्या है?

राजस्थान राज्य की आम जनता को स्वास्थ संबंधित सभी सुविधाएं बेहतर तरीके से उपलब्ध कराने के लिए राजस्थान सरकार के द्वारा राइट टू हेल्थ बिल को पेश किया गया है जिसके माध्यम से आम जनता को स्वास्थ संबंधित सुविधाओं को आसान बनाया जाएगा।

राइट टू हेल्थ बिल को किसके द्वारा शुरू किया गया है?

इस बिल की शुरुआत राजस्थान प्रशासन के द्वारा की गई है ताकि राजस्थान राज्य में निवास करने वाले सभी नागरिकों को आपातकालीन स्थिति में बेहतर स्वास्थ संबंधित सुविधा बिना किसी खर्च के मिल सके।

राइट टू हेल्थ बिल शुरू होने से आम जनता को क्या फायदे होंगे?

इस प्रावधान के शुरू होने से राज्य के गरीब एवं बेसहारा लोगों को किसी भी प्रकार की इमरजेंसी के दौरान अच्छी देखभाल और उचित उपचार की सुविधा मिल सकेगी।

अगर कोई डॉक्टर राइट टू हेल्थ बिल के अंतर्गत निर्धारित नियमों का उल्लंघन करता है तो उसके खिलाफ क्या कार्यवाही की जाएगी?

राजस्थान के प्राइवेट या सरकारी अस्पतालों का कोई भी डॉक्टर राइट टू हेल्थ बिल के अंतर्गत निर्धारित नियमों का उल्लंघन करता पाया गया तो पहली बार उल्लंघन करने पर उससे ₹10000 और पुनः नियमों का उल्लंघन करने पर ₹25000 की पेनल्टी ली जाएगी।

क्या राइट टू हेल्थ बिल के अंतर्गत किसी भी तरह की शिकायत को ऑनलाइन दर्ज कर सकते हैं?

जी हां, अगर आप राइट टो हेल्थ बिल के अंतर्गत किसी भी तरह की शिकायत दर्ज कराना चाहते हैं तो सरकार के द्वारा लांच किए गए ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से अपनी शिकायत दर्ज करा सकते है।

राइट टू हेल्थ बिल को कब पारित किया गया है?

राजस्थान सरकार के द्वारा 21 मार्च 2024 को राइट टू हेल्थ बिल को पारित किया गया है।

राजस्थान राइट टू हेल्थ बिल को शुरू करने की जरूरत क्यों पड़ी?

राजस्थान राज्य में आपातकालीन स्थिति के दौरान आम नागरिकों को अपना इलाज करने में कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है और पैसे ना होने के कारण उन्हें उचित इलाज नहीं मिल पाता है इसी बात को ध्यान में रखते हुए राइट टू हेल्थ बिल शुरुआत की गई है।

निष्कर्ष

आज हमने आप सभी को अपनी इस वेबसाइट के माध्यम से राजस्थान राज्य सरकार के द्वारा आम जनता के हितों के लिए शुरू किए गए राइट टू हेल्थ बिल के बारे में पूरी जानकारी साझा की है। अगर आपको राइट टू हेल्थ बिल क्या है? | Right To Health Bill Kya Hai in Hindi के संबंध में जानकारी नहीं है तो हमने इस आर्टिकल में इसकी पूरी जानकारी विस्तार पूर्वक उपलब्ध कराई है। हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारे इस आर्टिकल में बताई गई जानकारी पसंद आई होगी.

अगर आपके लिए हमारे इस आर्टिकल में राइट टू हेल्थ बिल के संबंध में बताई गई जानकारी अच्छी लगी हो तो हम आपसे अनुरोध करते हैं कि आप हमारे इस आर्टिकल को अधिक से अधिक अपने दोस्तों के साथ शेयर करें तथा राइट टू हेल्थ से संबंधित किसी भी प्रकार की अन्य जानकारी प्राप्त करने के लिए आप अपने प्रश्न नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन के माध्यम से हम से पूछ सकते हैं हम आपके द्वारा पूछे गए प्रश्नों का उत्तर कमेंट के माध्यम से प्रदान करेंगे तब तक आप हमारी वेबसाइट के साथ बने रहें.

Leave a Comment