स्वदेश दर्शन योजना 2024 | देश के पर्यटन को मजबूत करने के लिए शुरू हुई योजना | Swadesh Darshan Yojana

|| स्वदेश दर्शन योजना 2024 क्या है? | What is Swadesh Darshan Yojana in Hindi | स्वदेश दर्शन योजना का उद्देश्य | स्वदेश दर्शन योजना 2024 के लाभ ||

भारत एक ऐसा देश है जिसकी खूबसूरती को मुंह से बयान नहीं किया जा सकता है आज हमारे देश में कई ऐसे पर्यटक स्थल मौजूद है जो भारत में ही नहीं पड़ती अन्य देशों में भी काफी प्रचलित हैं जिसकी वजह से अक्सर विदेशों से भी लोग इन जगहों पर घूमने आते है, यह हमारे देश के लिए गौरव की बात है।

बल्कि हमारे देश के बेरोजगारों को भी इन पर्यटक स्थलों के माध्यम से रोजगार मिला है। इसी बात को ध्यान में रखकर तथा देश की पर्यटन व्यवस्था को और अधिक बेहतर बनाने के लिए केंद्र सरकार के द्वारा हाल ही में 2024 का शुभारंभ किया गया है। अगर आप नहीं जानते हैं कि स्वदेश दर्शन योजना 2024 क्या है? तो आपको हमारा यह आर्टिकल पूरा पढ़ने की आवश्यकता है

क्योंकि इस आर्टिकल के माध्यम से हम आप सभी के साथ विस्तार पूर्वक Swadesh Darshan Yojana 2024 से जुड़ी सभी प्रकार की जानकारियाँ जैसे- स्वदेश दर्शन योजना क्या है? इसके उद्देश्य लाभ एवं इसके अंतर्गत आने वाले पर्यटन सर्किट इत्यादि के बारे में बताने जा रहे हैं तो चलिए और अधिक समय की बर्बादी किए बिना What is Swadesh Darshan Yojana in Hindi के बारे में जानते है-

Contents show

स्वदेश दर्शन योजना 2024 क्या है? | What is Swadesh Darshan Yojana in Hindi

देश के पर्यटन स्थल का विकास करने के लिए भारत सरकार ने 2 योजनाओं को मिलाकर स्वदेश दर्शन योजना को शुरू किया है। जिसमें प्रसाद दर्शन योजना और दूसरा स्वदेश दर्शन योजना को शामिल किया गया है। इस योजना के माध्यम से केंद्र सरकार सभी तीर्थ स्थलों एवं पर्यटक स्थल के लिए सर्किट के विकास करेंगी। जिसके माध्यम से पर्यटन स्थलों के विकास के साथ परिवहन, आर्थिक स्थिति, रोजगार और भोजन जैसी आवश्यक चीजों की भी समुचित व्यवस्था की जाएगी।

What is Swadesh Darshan Yojana in Hindi

ताकि भारत देश में स्थित सभी पर्यटक स्थलों को और भी बेहतर बनाया जा सके। इस कार्य की पूर्ति के भारत सरकार के द्वारा 2048 करोड़ रुपये का बजट निर्धारित किया गया है। अगर आप Swadesh Darshan Yojana in Hindi के संबंधी अन्य जानकारी जैसे-इसके उद्देश्य लाभ इत्यादि के संबंध में और अधिक जानना चाहते हैं तो आप अंत तक हमारे साथ बने रहिए। 

अब भारत में आने वाले पर्यटक को को मिलेगी बेहतर सुविधा

भारत सरकार के द्वारा सभी तीर्थ स्थलों एवं पर्यटन स्थलों का विकास करने के लिए स्वदेश दर्शन योजना का शुभारंभ किया गया है जिसके अंतर्गत भारत देश के विभिन्न पर्यटन स्थलों में घूमने आने वाले विदेशी पर्यटकों को कई प्रकार की सेवाएं जैसे- यातायात, आर्थिक स्थिति, रहने, भोजन की स्थिति की व्यवस्था की जाएगी। ताकि भारत में आने वाली विदेशी पर्यटक को बेहतर से बेहतर सुविधा उपलब्ध कराई जा सके।

स्वदेश दर्शन योजना का उद्देश्य

केंद्र सरकार के द्वारा स्वदेश दर्शन योजना 2024 को शुरू करने का एकमात्र उद्देश्य भारत के सभी पर्यटन स्थलों का एक साथ विकास करना है। जिसके लिए केंद्र सरकार हर एक तीर्थ स्थलों पर परिवहन, आर्थिक स्थिति, रोजगार और भोजन जैसी आवश्यक चीजों की व्यवस्था पर विशेष ध्यान देगी।

भारत सरकार ने Swadesh Darshan Yojana 2024 के माध्यम से योजनाबद्ध तरीके से सभी पर्यटन सर्किट को विकसित करने का लक्ष्य निर्धारित किया है जिससे देश की आर्थिक स्थिति मजबूत होने के साथ-साथ रोजगार के अवसर भी पैदा होंगे और देश के अधिक से अधिक बेरोजगारों को पर्यटन स्थलों के समक्ष रोजगार करने का अवसर प्राप्त होगा।

स्वदेश दर्शन योजना 2024 के लाभ और विशेषताएं

स्वदेश दर्शन योजना 2024 के लाभ और विशेषताएं निम्नलिखित प्रकार से सूचीबद्ध रूप में नीचे बताई जा रही है अगर आप सुदर्शन योजना की विशेषताओं और लाभ के संबंध में जानना चाहते हैं तो नीचे उपलब्ध बिंदुओं को ध्यानपूर्वक पढ़िए।

  • केंद्र सरकार के द्वारा स्वदेश दर्शन योजना 2024 का शुभारंभ किया गया है।
  • इस योजना को केंद्र सरकार के द्वारा दो योजनाओं जैसे प्रसाद दर्शन योजना और दूसरा स्वदेश दर्शन योजना को मिलाकर शुरू किया है।
  • स्वदेश दर्शन योजना पूरी तरह से Ministry of Tourism के द्वारा चलाई जा ढाई थीम योजना पर आधारित होगी।
  • Darshan Yojana के द्वारा देश के सभी पर्यटन सर्किट का सम्पूर्ण विकास किया जाएगा।
  • इस योजना को खास तौर पर पर्यटक स्थलों का विकास करने और पर्यटन की क्षमता में वृद्धि करने के लिए शुरू किया गया है।
  • जिसके लिए केंद्र सरकार गंगा किनारे बसे सभी पर्यटन स्थलों जरूरत के हिसाब से गेस्ट हाउस, छोटे हट, पार्क आदि का निर्माण करवाएगी।
  • साथ ही साथ परिवहन, आर्थिक स्थिति, रोजगार और भोजन की भी उचित प्रबंध किया जाएगा।
  • इसके अतिरिक्त स्वदेश दर्शन योजना के तहत चयनित शहरों के पर्यटन स्थलों का नवीनीकरण भी किया जाएगा।
  • भारत सरकार के द्वारा इस योजना के अंतर्गत सभी पर्यटन स्थलों का पूर्ण विकास करने के लिए 2048 करोड रुपए का बजट निर्धारित किया गया है।

स्वदेश दर्शन स्कीम के अंतर्गत आने वाले पर्यटन सर्किट

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत सरकार के द्वारा स्वदेश दर्शन योजना 2024 के अंतर्गत कुल 15 सर्किटों को चुना गया है, जिन का एकीकरण विकास किया जाएगा अगर आप जानना चाहते हैं कि स्वदेश दर्शन स्कीम के अंतर्गत सरकार ने कौन-कौन से पर्यटन स्थल का चयन किया है तो इसकी लिस्ट नीचे दी जा रही है –

बौद्ध सर्किट

बौद्ध सर्किट के अंतर्गत स्वदेश दर्शन योजना में बौद्ध तीर्थ स्थलों को शामिल किया गया है। जो की भारत के राज्य मध्यप्रदेश, बिहार, उत्तर प्रदेश, गुजरात और आंध्र प्रदेश में स्थित है।

कृष्णा सर्किट

इस सर्किट के तहत केंद्र सरकार ने  5 राज्यो के 12 डेस्टिनेशन्स को शामिल किया है। इनमे द्वारका (गुजरात), कुरुक्षेत्र (हरियाणा), पुरी (ओडिशा), नाथद्वारा, जयपुर, सीकर (राजस्थान) गोकुल, वृंदावन, बरसाना, मथुरा, नंदगांव, गोवर्धन (उत्तर प्रदेश) है। इन सभी स्थानों पर मौजूद कृष्ण भगवान से संबंधित पर्यटन स्थलों का विकास किया जाएगा।

रामायण सर्किट

रामायण सर्किट के अंतर्गत देशभर में स्थित भगवान राम की किंवदंतियों से संबंधित स्थलों का विकास करने का प्रस्ताव रखा गया है रामायण से संबंधित सभी पर्यटन स्थलों पर्यटन की बुद्धि करके उन्हें और भी अधिक सुविधाजनक बनाया जा सके।

सूफि सर्किट

सूफी सर्किट का मुख्य उद्देश्य प्राचीन सूफी परंपरा को कायम रखना है ताकि भारत देश में पुराने समय से ही चली आ रही सूफी परंपरा और सूफी संतानों के अस्तित्व को बरकरार रखा जा सके।

आध्यात्मिक सर्किट

भारत सरकार के द्वारा आध्यात्मिक सर्किट के तहत भारत देश के 7 राज्यों को शामिल किया गया है जिनमें केरल, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, बिहार, मणिपुर और पुडुचेरी है। इन राज्यों के सभी चार धर्मो के अंतर्गत आने वाली डेस्टिनेशन्स में पर्यटकों की सुविधा को बेहतर बनाया जायेगा।

तीर्थकर सर्किट

देश में कई जैन तीर्थ स्थल भी हैं जहां भारी मात्रा में पर्यटन घूमने आते है इन पर्यटक को के लिए वस्तु कला व्यंजन शिल्प कला का विकास करने के लिए भारत सरकार ने तीर्थकर सर्किट तैयार किया है।

ग्रामीण सर्किट

इस सर्किट का मुख्य उद्देश्य चंद्रहिया, तुर्कोर्लिया बिहार गांधी सर्किट, मलनाड मालाबार क्रूज पर्यटन और भितिहारवा आदि ग्रामीण पर्यटन का समुचित विकास करना है ताकि भारी मात्रा में पर्यटकों की संख्या को बढ़ाया जा सके।

नार्थ ईस्ट सर्किट

नॉर्थ ईस्ट सर्किट के अंतर्गत भारत सरकार ने नॉर्थ ईस्ट में आने वाले सभी राज्य जैसे- असम, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम, नागालैंड, मेघालय, सिक्किम और त्रिपुरा राज्य को शामिल किया है इन क्षेत्रों में मौजूद सभी तीर्थ पर्यटन स्थल का विकास होगा।

हेरिटेज सर्किट

स्वदेश दर्शन योजना के अंतर्गत आने वाले इस सर्किट के तहत भारत के उत्तर प्रदेश, राजस्थान, पंजाब असम, उत्तराखंड, पुडुचेरी, गुजरात, मध्यप्रदेश, तेलंगाना राज्यों को सम्मिलित किया गया है। जिसके अंतर्गत देशभर में यात्रा करने वाले पर्यटक को की जरूरतों को पूरा किया जाएगा।

डेजर्ट सर्किट

आपको बता दें कि डेजर्ट सर्किट के अंतर्गत दुनियाभर के आने वाले पर्यटक को को ज्यादा से ज्यादा सुविधा प्रदान करने के लिए डेजर्ट पर्यटन का विकास किया जाएगा।

इको सर्किट

झारखंड, केरल, मध्यप्रदेश, तेलांगना, उत्तराखंड और मिजोरम राज्य में जो भी पर्यावरण और प्राकृति से संबंधित जो भी पर्यटन स्थल है उन सभी का नवीकरण और विकास किया जाएगा।

ट्राइबल सर्किट

विदेश से आने वाले पर्यटकों को आदिवासी प्राचीन रिति रिवाजों, परम्परा, संस्कृति, त्यौहार, शिल्प कौशल, कला से परिचय करवाने हेतु ट्राइबल सर्किट को बनाया गया है जिसके अंतर्गत तेलांगना, छत्तीसगढ़ और नागालैंड राज्यों को सम्मिलित किया गया है।

वाइल्ड लाइफ सर्किट

असम और मध्य प्रदेश राज्य के वन्यजीव पर्यटकों के आकर्षण का मुख्य केंद्र बने हुए हैं, असम और मध्य प्रदेश के जंगलों में हर साल लाखों पर्यटक यहां की सुंदरता और वन्यजीवों को देखने आते हैं, ऐसे पर्यटन स्थलों का विकास करने एवं पर्यटकों को सभी जरूरी सुविधा उपलब्ध कराने के लिए भारत सरकार ने वाइल्ड लाइफ सर्किट का निर्माण किया है।

Swadesh Darshan Yojana Related FAQs

स्वदेश दर्शन योजना क्या है?

यह भारत में स्थित सभी पर्यटन स्थलों का विकास करने के लिए केंद्र सरकार के द्वारा उठाया गया एक अहम कदम है जिसके माध्यम से सभी तीर्थ स्थलों एवं पर्यटन स्थलों का विकास किया जाएगा।

स्वदेश दर्शन योजना को क्यों शुरू किया गया है?

इस योजना को मुख्य रूप से भारत के सभी तीर्थ स्थल एवं पर्यटन स्थलों का विकास एवं नवीनीकरण करने के उद्देश्य से शुरू किया गया है।

इस योजना के माध्यम से क्या लाभ मिलेगा?

स्वदेश दर्शन योजना के माध्यम से सरकार सभी पर्यटन स्थलों का विकास करेगी जिससे आसपास के रहने वाले लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगे और देश में बढ़ रही बेरोजगारी भी कम होगी।

स्वदेश दर्शन स्कीम के अंतर्गत कितने पर्यटन सर्किट बनाए गए है?

स्वदेश दर्शन योजना 2024 के अंतर्गत कुल 15 सर्किटों को चुना गया है, जिन का एकीकरण विकास किया जाएगा, जिनका पूरा विवरण विस्तारपूर्वक ऊपर दिया गया है।

निष्कर्ष

आज हमने आपको अपनी इस पोस्ट के माध्यम से विस्तार पूर्वक केंद्र सरकार के द्वारा पर्यटन स्थलों का विकास करने के लिए शुरू की गई एक कल्याणकारी योजना स्वदेश दर्शन योजना 2024 क्या है? | What is Swadesh Darshan Yojana in Hindi संबंध में विस्तार पूर्वक जानकारी साझा की है।

यदि आप अभी भी स्वदेश दर्शन योजना 2024 के संबंध में किसी भी प्रकार के अन्य जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप इस योजना से संबंधित किसी भी प्रकार का प्रश्न हमसे नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में कमेंट करके पूछ सकते हैं ऐसे ही और सरकारी योजनाओं के बारे में आगे जानकारी प्राप्त करने के लिए आप हमारी वेबसाइट के साथ लगातार बने रहे। और अगर आपको हमारा अच्छा लगा हो तो आपसे अनुरोध है कि आप हमारे इस आर्टिकल को अधिक से अधिक शेयर करें।

Leave a Comment