[ऑनलाइन आवेदन] स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना | डाउनलोड आवेदन फॉर्म

Swami Vivekanand Etihasik paryatan Yatra Scheme Apply Form 2021 :– अगर आप उत्तर प्रदेश राज्य के निवास करते है और अगर धार्मिक भावनाओं पर विस्वास करते है तो आज का हमारा यह आर्टिकल आपके लिये बहुत महत्वपूर्ण साबित होने वाली है क्योंकि आज हम आपको यूपी सरकार के द्वारा धार्मिक भावनाओं से शुरु की गई स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना के बारे बताने जा रहे है। जो की यूपी राज्य की काफ़ी महत्वाकांक्षी योजनाओ में से एक है।

भगवान में आस्था रखने वाले देश भर में ऐसे काफ़ी नागरिक है जो धार्मिक स्थल पर यात्रा कर भगवान के दर्शन करना चाहते है लेकिन अक्सर पैसे की कमी के कारण वह अपनी इक्षा को पूरा नही कर पाते है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए यूपी सरकार ने Swami Vivekanand Etihasik paryatan Yatra Scheme की शुरुआत की है। इस योजना के अंतर्गत राज्य के ग़रीब लोगो को धार्मिक यात्रा करने के लिए सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

तो अब अगर आप भी इस योजना के अंतर्गत सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता प्रदान करके धार्मिक यात्रा करना चाहते है तो हमारे इस आर्टिकल को पूरा पढ़े। नीचे आपको इस योजना में आवेदन प्रक्रिया और ज़रूरी दस्तावेज जैसी सभी जानकारी मिल जाएंगी।

Contents

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना क्या हैं? | What Is Swami Vivekanand Etihasik paryatan Yatra Scheme

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना 2

देश भर में आस्था पर विस्वास करने वाले लाखों नागरिक जो आर्थिक रूप से गरीब होने के कारण धार्मिक यात्राएं नही कर पाते है। उनके लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना की शुरुआत की है। इस योजना के अंतर्गत धार्मिक यात्रा करने वाले नागरिको को सरकार की तरफ से आर्थिक सहायता प्रदान की जाएंगी।

Swami Paryatan Yatra का लाभ राज्य के सिर्फ ऐसे नागरिको को दिया जाएगा जो आर्थिक रूप से गरीब है और मौजूद किसी फैक्ट्री में काम करके परिवार का पालन पोषण करते है। प्रदेश सरकार ने इस योजना का लाभ राज्य के 20500 फैक्ट्री में काम करने वाले लगभग 1.5 करोड़ मजदूरों को देने का लक्ष्य रखा हैं। जो भी इक्षुक फैक्ट्री में काम करने वाले मजदूर धार्मिक स्थल पर यात्रा करना चाहते है वह हमारे इस आर्टिकल में नीचे दी गयी जानकारी को फॉलो करके आवेदन कर सकते है।

योजना का नाम स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना
राज्य उत्तर प्रदेश
विभाग उत्तर प्रदेश श्रम विभाग
लाभार्थी फैक्ट्री में काम करने वाले गरीब वर्कर
वित्तीय सहायता राशि
उ उद्देश्यधार्मिक स्थल की यात्रा कराना
वेबसाइट http://uplabour.gov.in/

Swami Vivekanand Etihasik paryatan Yatra Scheme के बारे में

Swami Vivekanand Etihasik paryatan Yatra Scheme की शुरुआत यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के द्वारा 24 जनवरी 2020 को शुरू की गई है इस योजना का तहत फैक्ट्री में काम करने वाले मजदूरों को धार्मिक पर्यटन की यात्रा करने के लिए सरकार की तरफ से 12000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करेंगी। ताकि मजदूर वर्ग के नागरिक भी आसानी से अपनी धार्मिक भावनाओं के इस अवसर को प्राप्त कर सकें।

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना का उद्देश्य | Objective Of Swami Vivekanand Etihasik paryatan Yatra Scheme

भारत भर में शायद ही ऐसा कोई होगा जो भगवना में आस्था नही रखता होगा वरना आज कल हर कोई भगवान की आस्था पर भरोसा करते है और समय समय पर भगवान की आस्था को अपनाते हुए झांकिया निकाली जाती है।

लेकिन अक्सर देखा जाता है कि भगवान में आस्था रखने के बाद भी मजदूर वर्ग के नागरिक भगवान की धार्मिक यात्राओं के अवसर को प्राप्त नही कर पाते है। इस बात को ध्यान में रखते हुए यूपी सरकार ने स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना की शुरुआत की है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य जो राज्य के फैक्टरी के काम करने वाले मजदूर वर्ग के व्यक्ति धार्मिक यात्रा पैसे की कमी के कारण नही कर पा रहे है उन्हें आर्थिक सहायता प्रदान करना है।

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना में शामिल किए गए धार्मिक स्थल

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना के अंतर्गत आर्थिक सहायता प्राप्त करके किन – किन धार्मिक स्थल पर यात्रा कर सकते है वह निम्लिखित है –

  • मथुरा
  • प्रयागराज
  • अयोध्या
  • वाराणसी
  • हस्तिनापुर
  • गोरखपुर का गोरखनाथ मंदिर
  • वैष्णो देवी मंदिर

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना विशेषताएं?

Swami Vivekanand Etihasik paryatan Yatra Scheme की विशेषताओं के बारे में आप नींचे पढ़ सकते हैं –

  • इस योजना की शुरुआत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने की हैं।
  • इस योजना की शुरुआत 24 जनवरी 2020 को की गयी थी।
  • Swami Vivekanand Etihasik paryatan Yatra Scheme के तहत राज्य के फैक्टरी में काम करने वाले मजदूरों को धार्मिक स्थल पर यात्रा करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना के अंतर्गत मजदूरों को 12000 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना में आवेदन करने के लिए पात्रता | Eligibility Of Swami Vivekanand Etihasik paryatan Yatra Scheme

योजना का लाभ नींचे दी गयी पात्रताओं के आधार पर दिया जाएगा।

  • आवेदकर्ता लाभार्थी उत्तर प्रदेश का नागरिक होना चाहिए।
  • योजना का लाभ फैक्टरी मजदूर लाभार्थी को दिया जाएगा।
  • आवेदकर्ता वेलफ़ेयर बोर्ड के अंतर्गत रेजिस्टर होना चाहिए।

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना के लिए जरूरी दस्तावेज | Dacuments Of Swami Vivekanand Etihasik paryatan Yatra Scheme

जब आप इस योजना में आवेदन करेंगे तो आवेदन करते समय कुछ जरूरी दस्तावेज़ो की जरूरत होंगी। जो निम्लिखित है।

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट फ़ोटो
  • मोबाइल नंबर

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना में आवेदन कैसे करें? | How to Apply Swami Vivekanand Etihasik paryatan Yatra Scheme

राज्य के गरीब लोगों के लिए शुरू किए स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना यूपी सरकार की काफी महत्वाकांक्षी योजना है। अगर आप ऊपर दिए गए सभी जरूरी दस्तावेज, पात्रता रखते है तो आप आसानी से इए योजना में आवेदन करके आर्थिक सहायता प्राप्त कर सकते है। आवेदन करने की प्रक्रिया नीचे दी गयी है।

  • सबसे पहले आपको लेबर वेबसाइट पर जाना हैं। आप इस http://uplabour.gov.in/ लिंक से क्लिक करके सीधे इसकी वेबसाइट पर जा सकते है।
  • वेबसाइट पर आने के बाद आपको इस योजना से जुड़े आवेदन फॉर्म को डाउनलोड करने का लिंक मिलेगा जहां क्लिक करके आपको इसे डाउनलोड कर लेना हैं।
  • अगर आपको वेबसाइट पर आवेदन फॉर्म डाउनलोड करने में परेशानी आ रही है तो आप नीचे दिए गए लिंक से डायरेक्ट इस योजना से संबंधित आवेदन फॉर्म को डाउनलोड लरा सकते है।

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना आवेदन फार्म

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना
  • आवेदन फॉर्म डाउनलोड करने के बाद इस आवेदन फार्म को प्रिंट करा लेना है।
  • आवेदन फॉर्म को प्रिंट कराने के बाद फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी और दस्तावेज़ो को को जोड़ लेना है।
  • अब इस आवेदन फॉर्म को श्रम विभाग कार्यालय में जमा कर देना है।
  • इस प्रकार आपका स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना में आवेदन हो जाएगा और आपको आवेदन पंजीकरण संख्या कार्यालय के द्वारा दे दी जाएगी।
  • आवेदन करने के कुछ दिन आपके फॉर्म का सत्यापन करके आर्थिक सहायता राशि बैंक खाते के भेज दी जाएगी।

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना आवेदन स्थिति किसे जांचे

अगर आप इस योजना के तहत आर्थिक सहायता राशि के लिए आवेदन कर चुके और अब आवेदन फॉर्म की स्थिति जांचना चाहते है तो आप नींचे दी गयी स्टेप को फ़ॉलो कर सकते हैं –

  • सबसे पहले आपको ऑफिशियल वेबसाइट http://uplabour.gov.in/ पर जाना है।
  • वेबसाइट पर आने के बाद आपको वेबसाइट के होमपेज पर आपको Application Status का ऑप्शन मिलेगा जिसके ऊपर आपको क्लिक कर देना है।
स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना 1
  • अब आपके सामने एक पेज ओपन होगा जहां पर आपको पंजीकरण संख्या को भरना हैं और सर्च बटन पर क्लिक कर देना है।
  • सर्च बटन पर क्लिक करते ही आपके सामने आपके आवेदन फॉर्म की स्थिति निकलकर आ जायेगी।

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना से जुड़े कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न उत्तर

क्या स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना का लाभ हर किसी को मिलेगा?

जी नही इस योजना का लाभ सिर्फ उत्तर प्रदेश ऐसे मजदूर वर्गों को दिया जाएगा जो किसी फैक्टरी में कार्य करते है। योजना का लाभ लेने के लिए इन फैक्ट्री वर्कर को अपना इस योजना में पंजीकरण करना होगा।

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना के अंतर्गत सरकार कितनी आर्थिक सहायता प्रदान करेगी?

इस योजना के अंतर्गत उत्तर प्रदेश सरकार 12 हज़ार रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान करेंगी। इस योजना के अंतर्गत दी जाने वाली ₹12000 की आर्थिक सहायता का उपयोग करके राज्य के पात्र नागरिक धार्मिक स्थल की यात्रा कर सकेंगे।

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना के अंतर्गत दी जाने आर्थिक सहायता राशि प्राप्त करने के लिए क्या करना होगा?

इस आर्थिक सहायता राशि को प्राप्त करने के लिए लाभार्थी को आवेदन करना होगा। योजना में आवेदन करने के बाद इस योजना के अंतर्गत दी जाने वाली आर्थिक सहायता लाभार्थी के बैंक खाते में भेज दी जाएगी
जिसके बारे में आपको ऊपर बताया है।

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना की शुरुआत कब और किसने की है?

स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना की शुरुआत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा 24 जनवरी 2020 में की गई थी।

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना का लाभ किसेे दिया जााएगा?

इस योजना का लाभ उत्तर प्रदेश राज्य के गरीब परिवार के ऐसे नागरिकों के लिए दिया जाएगा जो राज्य की किसी फैक्ट्री में काम करते हैं और वह किसी धार्मिक स्थल पर यात्रा करना चाहते हैं।

स्वामी विवेकानंद एतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना मैं आवेदन कैसे करें?

योजना का लाभ लेने के लिए आपको इस योजना से जुड़ी ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर योजना संबंधित आवेदन फॉर्म को प्राप्त करके आवेदन फॉर्म में पूछत गई सभी जानकारी की जानकारी को भरकर श्रम विभाग में जाकर जमा करना होगा।

निष्कर्ष

आज हमने आपको स्वामी विवेकानंद ऐतिहासिक पर्यटन यात्रा योजना के बारे में पूरी जानकारी दी है। मैं उम्मीद करता हूं कि आपको इस योजना से संबंधित सभी जानकारी मिल गई होगी और आप इस योजना के अंतर्गत आर्थिक सहायता को प्राप्त करने के लिए अपना आवेदन कर चुके होंगे।

अगर आपको इस योजना से जुड़े अन्य कोई सवाल है या फिर आपको इस योजना में आवेदन करते समय या फिर आवेदन फॉर्म को प्राप्त करने में कोई परेशानी हो रही है। तो आप हमें कमेंट करके पूछ सकते हैं। हम जल्दी आपकी सहायता करेंगे।

Spread the love

Leave a Comment