[ऑनलाइन आवेदन] मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना | UP Bal Shramik Vidya Scheme

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना :- दोस्तों आज हम आपको इस लेख के माध्यम से मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना के बारे में बताने जा रहे हैं। इस योजना का प्रारम्भ उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ नाथ द्वारा 12 जून को उत्तर प्रदेश में निवास करने वाले अनाथ और मज़दूर परिवार के बच्चों की बेहतर शिक्षा के लिए किया गया है। बता दे की राज्य सरकार ने इस योजना के अंतर्गत राज्य के गरीब परिवारों के बच्चों के लिए बालकों में 1000 रुपये प्रतिमाह तथा बालिकाओं को 1200 रुपये प्रतिमाह आर्थिक सहायता राशि देने का ऐलान किया है, राज्य सरकार की तरफ से कहाँ गया है की इस योजना के अंतर्गत पहले चरण में 2000 बच्चों को लाभ प्रदान किया जायेगा।

अगर आप भी उत्तर प्रदेश में रहते है तथा इस योजना का लाभ लेना चाहते है तो आपको इस बात की जानकारी होना आवश्यक है कि इसके लिए क्या – क्या दस्तावेजों होना आवश्यक है तथा इस के लिए आप किस प्रकार आवेदन कर सकते है। जिसकी जानकरी हमने नीचे लेख में विस्तार पूर्वक साझा की है। इसके लिए  लेख को आखिर तक पढ़े.  हम उम्मीद करते है कि ये जानकारी आपके लिए बहुत लाभकारी साबित होगी।

Contents

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना | UP Bal Shramik Vidya Scheme

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना में ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

हर माता पिता अपने बच्चे को पढ़ा लिखा कर एक अच्छा इंसान बनाना चाहते है पर ये ग़रीब नागरिक के लिए इतना आसान नहीं होता है इसी बात को ध्यान में रखते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने मुख्यमंत्री बाल श्रमिक योजना का प्रारम्भ किया है। इस योजना के अंतर्गत प्रदेश के अनाथ और ग़रीब परिवार के बच्चों को सरकार द्वारा शिक्षा प्राप्त करने के लिए आर्थिक सहायता प्रदान की जायेगी। इस योजना के अंतर्गत बालकों को 1000 रुपये प्रतिमाह तथा बालिकाओं को 1200 रुपये प्रतिमाह प्रदान किये जायेंगे।

योजना का नाम मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या जना
किस राज्य में शुरू की गई उत्तर प्रदेश राज्य में
किसके द्वारा शुरू की गई मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा
योजना का पात्र बनाया गया है राज्य के अनाथ एवं मजदूरों के बच्चों को
कितनी सहायता राशि मिलेगी बालक को ₹1000 तथा बालिकाओं को ₹1200
योजना कब शुरू की गई 12 जून 2020
आवेदन प्रक्रिया ऑनलाइन

जिससे वो अच्छी शिक्षा प्राप्त कर एक सफल नागरिक बन सके।  इस योजना के अंतर्गत पहले चरण में प्रदेश के 2000 हजार बच्चों को लाभ प्रदान किया जायेगा। मुख्यमंत्री बाल श्रमिक योजना का प्रारम्भ मार्च माह के आखिर में किया जाना था। परन्तु प्रदेश में चलती परिस्थितियों को देखते हुए इसका प्रारम्भ जून माह में किया गया.

इसके साथ ही आपकी बेहतर जानकारी के लिए बता दे की पहले उत्तर प्रदेश श्रम विभाग द्वारा पहले लाभर्थियों के खाते में 8000 रुपये की सहायता हर वर्ष प्रदान की जाती थी। तथा 100 रुपये प्रतिमाह स्कोलरशिप के रूप में प्रदान किया जाता था। अब इसे बदल के नये रूप में मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना नाम से चालू किया गया है।

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना का उद्देश्य

हम सभी जानते है कि अभी भी प्रदेश में बहुत से ऎसे परिवार है जो अपनी जीवन याचिका चला पाने में असमर्थ है।जिसकी वजह से वो अपने बच्चों से श्रम करवाने पर मजबूर हो जाते है। और जिसकी बजह से उनके बच्चे भी पड़ – लिख नहीं पाते है और आजीवन उन्हें भी अपनी जिंदगी ग़रीबी में ही गुजारनी पड़ती है। वैसे तो शिक्षा पर सबका बराबर अधिकार है पर आजकल बढ़ती स्कूलों की फ़ीस से कारण ये असंभव सा लगता है। इसी उसी बात को ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इस मुहिम का प्रारम्भ किया गया है.

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना लाभ | CM Child Labor Education Scheme benefits

  • मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना का लाभ प्रदेश के अनाथ और ग़रीब परिवार के बालकों को प्रदान किया जायेगा।
  • इसके तहत बालकों को 1000 रुपये प्रतिमाह तथा 1200 रुपये प्रतिमाह प्रदान किया जायेगा।
  • प्रदेश के जो बच्चे 8 वीं , 9 वीं , 10 वीं कक्षा में पड़ रहे है उन्हें प्रदेश सरकार द्वारा 6000 रुपये की अतिरिक्त सहायता प्रदान की जायेगी।
  • मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना के अंतर्गत पहले चरण में 2000 लाभार्थियों को लाभ प्रदान किया जायेगा।
  • इस योजना से बाल श्रमिकों को श्रम रूप में काम करने से छुटकारा मिलेगा।
  • इस के लिए आप आवेदन विभाग की ऑफिसियल वेबसाइट के माध्यम से कर सकते है।

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना का लाभ लेने के लिए आवश्यक पात्रता

  • आवेदक उत्तर प्रदेश का निवासी होना चाहिये।
  • आवेदक की उम्र 8 वर्ष से कम तथा 18 वर्ष से ज्यादा नहीं होना चाहिए ।
  • आवेदक का परिवार गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन कर रहा हो।

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज़ – Documents required for the Chief Minister’s Child Labor Learning Scheme

अगर आप मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2020 के लिये आवेदन करना चाहते हैं तो आपके पास निम्न दस्तावेजों का होना आवश्यक है। जो कुछ इस प्रकार है –

आधार कार्ड – अगर आप आवेदन करना चाहते है तो आवेदक के पास आधार कार्ड होना अनिवार्य है।

पहचान पत्र – आवेदन करने के लिए आपके पास पहचान पत्र भी होना चाहिए जिसे आवेदन करते वक़्त  पहचान के रूप में प्रयोग किया जायेगा।

निवास प्रमाण पत्र – आवेदक के पास निवास प्रमाण पत्र होना चाहिए जिससे सिद्ध होता हो कि आवेदक उत्तर प्रदेश का स्थायी निवासी है।

फ़ोटो – आवेदक के पासपोर्ट साइज फ़ोटो।

मोबाइल नंबर – आवेदन पत्र को वेरीफाई करवाने के लिए एक मोबाइल नंबर की भी आवश्यकता होगी।

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना में ऑनलाइन आवेदन कैसे करें?  | How to apply online under Chief Minister Bal Shramik Vidya Yojana

अगर आप उत्तर प्रदेश में निवास करते है तथा मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना 2023 के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदन करना चाहते तो आपको इसके लिए अभी इंतज़ार करना पड़ेगा। क्योंकि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा इसकी आवेदन प्रक्रिया अभी जारी नहीं कि गयी है पर भविष्य में जब भी आवेदन प्रक्रिया जारी की जायेगी तो हम आपको लेख के माध्यम से अवगत करा देंगे।

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक योजना से जीवन के बदलाव की संभावना

इस योजना से उत्तर प्रदेश के बाल श्रमिकों के जीवन में बदलाव होगा ऐसी संभावना उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय योगी आदित्यनाथ जी जतायी गयी। क्योंकि बहुत बार पैसे ना होने की वजह से प्रदेश के अनाथ और आर्थिक रूप से कमजोर परिवार के बच्चे को शिक्षा के मार्ग में बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है और बहुत बार तो ये रास्ता ही बदल देते है। और किसी गलत अपराध के रास्ते पर जाकर अपने जीवन को बर्बाद कर बैठते है। पर इस आर्थिक सहायता से मिलने से अपने मनपसंद मार्ग को चुनकर उस पर सफल होना में पहले के मुताबिक कम चुनौतियों सामना करना पड़ेगा।

उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना से जुड़े कुछ जरूरी प्रश्न उत्तर

उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना क्या है?

उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना उत्तर प्रदेश राज्य में निवास करने वाले गरीब एवं अनाथ बच्चों के लिए शुरू की गई एक कल्याणकारी योजना है इस योजना के तहत गरीब और अनाथ बच्चों को राज्य सरकार वित्तीय राशि प्रदान करेगी।

उत्तर प्रदेश बाल श्रमिक विद्या योजना का लाभ किसे मिलेगा?

इस योजना का लाभ उत्तर प्रदेश राज्य के आर्थिक रुप से गरीब परिवार के बच्चों तथा अनाथ बच्चों को प्रदान किया जाएगा ताकि वह अच्छे से पढ़ाई कर सकें।

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना के तहत लाभार्थी को कितनी राशि दी जाएगी?

इस योजना के अंतर्गत गरीब एवं अनाथ बालकों को राज्य सरकार की ओर से ₹1000 तथा बालिकाओं को ₹1200 की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना की शुरुआत किसने की है?

इस योजना की शुरुआत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा 26 जून 2020 को की गई है जिसका लाभ गरीब एवं अनाथ बच्चों को सीधे प्रदान किया जाएगा।

मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन कैसे करें?

यदि आप मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के द्वारा शुरू की गई इस कल्याणकारी योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो अभी आपको थोड़ा इंतजार करना होगा क्योंकि इस योजना की आवेदन प्रक्रिया अभी शुरू नहीं की गई है।

निष्कर्ष 

दोस्तों आज हमने आपको उत्तर प्रदेश सरकार की एक महत्वपूर्ण योजना [ऑनलाइन आवेदन] मुख्यमंत्री बाल श्रमिक विद्या योजना | UP Bal Shramik Vidya Scheme के बारे में बताया। हमने अपने इस आर्टिकल के माध्यम से आपको यह बताया कि किस प्रकार आप इस योजना का लाभ ले सकते हैं और किस प्रकार आप ऑनलाइन आवेदन कर के अपने फॉर्म सबमिट करवा सकते हैं। योजना से जुड़े कोई भी प्रश्न आप हमसे पूछ सकते हैं हम आपके प्रश्नों का अवश्य ही उत्तर देंगे धन्यवाद।

Leave a Comment