उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना | ऑनलाइन आवेदन फॉर्म। Uttrakhand Chief Minister Shearer Welfare Scheme


Uttrakhand Chief Minister Shearer Welfare Scheme In hindi 2022 :- उत्तराखंड सरकार अपने राज्य के नागरिको के लिए समय समय पर कई योजनायें चलाती रहती है जिससे राज्य के नागरिको को लाभ मिल सके। जैसा कि आप जानते है कि उत्तराखंड में काफी सरे वन और जंगल है और ऐसे नागरिक जो अपने घरो पर गाय, भैसों या बकरी को पालते है उन नागरिको को इन जानवरों के लिए चारा लेने जाना होता है।

जिसके कारण नागरिको को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है और साथ ही जंगली जानवरों का भी खतरा होता है।
इस तरह की इस समस्या को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने इस मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना की शुरुआत की है।

इस योजना के तहत राज्य में पालतू पशुओं के लिए काफी सस्ते दामों पर चारा उपलब्ध कराया जायेगा। अभी इस समय उत्तराखंड राज्य में अपने पशुओं के लिए चारा लाने के लिए महिलाओं को जाना पड़ता है जिससे उनको और अधिक खतरा रहता है। इस आर्टिकल में आपको Chief Minister Shearer Welfare Scheme के बारे में सभी जानकरी दी जाएगी, इसलिए आप इस आर्टिकल को अंत तक पढ़े।

Contents

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना क्या है? । What is Uttrakhand Chief Minister Shearer Welfare Scheme

मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना

इस योजना की शुरुआत उत्तराखंड राज्य के मुख्यमंत्री द्वारा 19 फरवरी 2021 को हल्द्वानी के एक कार्यक्रम में की गयी है। मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य ऐसे नागरिको की मदद करना है जो पहाड़ी इलाको में रहते है और जिनको अपने पालतू जानवरों के लिए चारा लाने के लिए या फिर खाना पकाने के लिए लकड़ी लाने के लिए जंगल में जाना पड़ता है।

योजना का नाम उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना
योजना की शुरुआत कब की गई 19 फरवरी 2021
लाभार्थी पशुपालक की किसान
उद्देशजानवरों को चारा उपलब्ध कराना
वेबसाइट अभी उपलब्ध नहीं

उत्तराखंड राज्य में इस तरह के कामों (चारा लाना, खाना पकाने के लिए लकड़ी लाना) को ज्यादातर महिलाएं करती है और इसलिए जंगल में जाने पर उनको जंगली जानवरों का भी खतरा रहता है। इस तरह की इस समस्या को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने इन महिलाओं के लिए काफी कम कीमत पर जानवरों का चारा उपलब्ध कराने का निर्यण लिया है।

Chief Minister Shearer Welfare Scheme 2022 के तहत राज्य में सस्ते दामों पर जानवरों का चारा उपलब्ध कराने के लिए सहकारी केंद्र बनाये जायेगे जिन केन्द्रों पर यह सस्ता चारा उपलब्ध कराया जायेगा।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना की विशेषताएँ । Objectives of Uttrakhand Chief Minister Shearer Welfare Scheme

उत्तराखंड सरकार द्वारा शुरू की गयी इस योजना की कई विशेताएं है जो इस योजना को राज्य के नागरिको के लिए काफी बेहतर बनाती है। इस योजना की सभी विशेताएँ नीचे दी जा रही है।

  • इस मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के शुरू होने से नागरिको को अब जंगल से चारा लाने की जरूरत नही पड़ेगी क्योंकि अब सरकार द्वारा उनके गाँव में स्थित सहकारी केंद्र पर यह चारा उपलब्ध करा दिया जायेगा।
  • जंगल में अपने जानवरों के लिए चारा लाने वाले नगरिको को जंगली जानवर का भी खतरा होता है और कभी कभी जंगली जानवर के हमले से कुछ नागरिको की जान भी चली जाती है। लेकिन अब मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना से लोगो की जान भी सुरक्षित रहेगी।
  • मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के तहत पालतू जानवरों के चारे का उत्पादन बढ़ाने के लिए जोर दिया जायेगा जिससे ऐसे लोगो को भी फायदा होगा जो चारे का उत्पादन करते है।
  • इस मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के शुरू होने से वर्तमान में बिकने वाला जानवरों का चारा जो अभी तक पंद्रह रुपये प्रति किलो की दर से बिकता था अब वही चारा तीन रुपये प्रति किलो के हिसाब से नागरिको को दिया जायेगा।

7771 सहकारी केन्द्रों पर उपलब्ध कराया जायेगा सस्ता चारा

उत्तराखंड राज्य में शुरू की गयी इस योजना के तहत पूरे राज्य में सस्ते दामों पर जानवरों का चारा उपलब्ध कराने के लिए राज्य में सात हज़ार सात सौ एक सहकारी केंद्र बनाये जायेगे और जिन पर चारे को उपलब्ध कराया जायेगा। इन सभी केन्द्रों पर मिलने वाला जानवरों का यह चारा हरा होगा जो जानवरों के लिए लाभदायक होगा।

मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के तहत राज्य में बनने वाले सहकारी केंद्र पर मिलने वाला चारा तीन रुपये किलो की दर से दिया जायेगा।

राज्य में बनने वाले यह सभी सहकारी केंद्र सभी गाँवो और शहरों के संपर्क क्षेत्र में बनाये जायेगे जिससे राज्य के उन सभी नागरिको को इस योजना का लाभ मिल सके जो जानवर पालते है। इस उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना ऑनलाइन, उद्देश्य, योग्यता के शुरू होने से राज्य में महिलाओ और ऐसे लोगो की सुरक्षा बढेगी जो अपने जानवरों के लिए घास लाने के लिए जंगल में जाते थे।

मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना से घास लाने वाले नागरिको की सुरक्षा बढेगी ।

इस मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के शुरू होने से ऐसे नागरिको की सुरक्षा बढेगी जो अपने जानवरों के लिए चारा लाने के लिए जंगल में जाते है। एक सुर्वे के अनुसार उत्तराखंड राज्य में अपने जानवरों के लिए घास लाने के लिए जाने वाली अधिकतर महिलाएं होती है।

लेकिन अब मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के शुरी हो जाने से उनको चारा लाने के लिए जंगल में जाने की कोई जरूरत नही पड़ेगी और उनको अपने घर के नजदीकी सहकारी केंद्र से अपने जानवर के लिए हरा चारा मिल सकेगा।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के तहत पशुओ के चारे के बैग बनाये जायेगे।

उत्तराखंड सरकार द्वारा शुरू की गयी इस योजना के कारण अब राज्य के नागरिको के पालतू जानवरों के लिए उनके चारे के 25 किलो के बैग बनाये जायेगे जिससे राज्य के नागरिको को चारा लेने में किसी प्रकार की कोई असुविधा ना हो। इसके अलावा इन बैग का एक और फायदा भी होगा कि पशुओं के इस बैग को बनाकर एक जगह से दूसरी जगह लाने और ले जाने में भी सुबिधा होगी।

अभी वर्तमान में उत्तराखंड में लगभग 25 लाख से अधिक परिवार अपने घरो में मवेशियों को पालते है जिसमे से दस लाख गाय और 15 लाख भैसे है। जानवरों की इस संख्या को देखते हुए सरकार ने इन जानवरों के चारे के लिए यह 25 किलो का बैग बनाने का फैसला लिया है।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना FAQ

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना क्या है?

यह योजना उत्तराखंड सरकार द्वारा अपने राज्य के नागरिको के लिए शुरू की गयी एक योजना है जिसके तहत राज्य के पालतू पशुओ का चारा काफी सस्ते दामो में उपलब्ध कराया जायेगा।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना का लाभ किसको दिया जायेगा?

इस योजना का लाभ उत्तराखंड राज्य के उन नागरिको को दिया जायेगा जो अपने घरो में पशुओ (गाय, भैस, बकरी) को पालते है।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना क्यों शुरू की गयी है?

उत्तराखंड सरकार द्वारा इस योजना को शुरू करने का मुख्य कारण नागरिको की जंगली जानवरों से सुरक्षा और राज्य की महिलाओ को सुबिधा प्रदान करना है।

उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना के तहत पालतू जानवरों का चारा कितने रुपये किलो मिलेगा?

इस योजना के तहत मिलने वाला जानवरों का चारा तीन रुपये प्रति किलो की दर से दिया जायेगा।

निष्कर्ष

उत्तराखंड राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई है काफी महत्वपूर्ण योजना है। जिसके बारे में आज हमने आपको विस्तार से जानकारी शेयर की हैं। उम्मीद करता हूँ कि दी गयी उत्तराखंड मुख्यमंत्री घस्यारी कल्याण योजना | ऑनलाइन आवेदन । Uttrakhand Chief Minister Shearer Welfare Scheme Online Application आपके लिए उपयोगी साबित हुई होंगी।

Leave a Comment