बेरोजगार नागरिकों (Unemployed citizens) को रोजगार प्रदान करने हेतु माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने मई 2022 को कैबिनेट मीटिंग के दौरान प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना (PM Suksham Khadya Udyog Unnayan Yojana) को शुरू करने की घोषणा की थी।

जिसके माध्यम से देश में छोटे एवं लघु खाद्य उद्योग करने वाले उद्यमियों के व्यवसाय (Business) को बढ़ाने एवं स्वरोजगार शुरू करने के लिए सरकार द्वारा सहायता के रूप में आर्थिक मदद (Financial help) प्रदान की जाएगी। 

इतना ही नहीं पीएम सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना 2023 के माध्यम से बेरोजगार लोगों को कौशल प्रशिक्षण (Skills training) के साथ प्रशासनिक सहायता एवं एमआईएस योजना का प्रचार प्रसार की पूरी सुविधा बिल्कुल मुफ्त (Free) में उपलब्ध कराई जाएगी।

आवेदन करने वाले आवेदक का अस्थाई रूप से भारत का नागरिक होना अनिवार्य है।

इस योजना के माध्यम से देश के छोटे और बड़े उद्योगपति लाभ प्राप्त कर सकेंगे।

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना के अंतर्गत लाभ प्राप्त करने के लिए आवेदक की आयु 18 वर्ष या इससे अधिक होनी जरूरी है।

आवेदक का खुद के उद्योग का मालिक होना बहुत जरूरी है.

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना से जुडी ज्यादा जानकारी के लिए नीचे क्लिक करे।