इस प्रकृति में मनुष्य को ही सर्व शक्तिशाली माना गया है। ऐसा कोई भी कार्य नहीं है, जो इंसान ना कर पाता हो।

इसका मुख्य कारण उसकी शारीरिक संरचना है जिसके वजह से मनुष्य प्रत्येक कार्य कर पाने में सक्षम होता है।

प्राचीन समय के अनुसार ही मनुष्य को सर्वोपरि माना जाता है परंतु कभी-कभी किसी दुर्घटना से मनुष्य विकलांगता की ओर अग्रसर होने लगते हैं।

विकलांग व्यक्तियों के लिए हरियाणा विकलांग पेंशन योजना की शुरुआत करने के बाद बहुत से लोग इससे लाभान्वित रहने लगे। यह एक राज्य स्तरीय योजना है। 

इस योजना के अनुसार कम से कम 60% विकलांगता वाले व्यक्ति जो हरियाणा में निवास करते हैं एवं जो 18 वर्ष से अधिक आयु के हो,उन्हें प्रतिमाह पेंशन देने का प्रावधान है।

आवेदन करने वाले व्यक्ति की विकलांगता 60 से 100% तक होनी ही चाहिए तभी इस योजना का लाभ आसानी से उठाया जा सकता है।

श्रम विभाग द्वारा अधिसूचित न्यूनतम मजदूरी से अधिक से अधिक आए नहीं होनी चाहिए।

ऐसे व्यक्ति जो किसी अन्य योजना जैसे वृद्धा पेंशन, विधवा पेंशन योजना से पेंशन ले रहे हो इस विकलांग पेंशन योजना के पात्र नहीं होंगे।

हरियाणा विकलांग पेंशन योजना से जुडी ज्यादा जानकारी के लिए नीचे क्लिक करे।